Thursday, November 14, 2019 02:11 PM

कुड्डी पंचायत के गांव आज भी पैदल

सड़क सुविधा न होने से झेलनी पड़ रही परेशानी, सीएम-विधायक से लगाई गुहार

चुवाड़ी - उपमंडल की कुड्डी पचायत के दूरस्थ सात गांव आजादी के सात दशक बीत जाने के बाद भी सड़क सुविधा से नहीं जुड पाए। सड़क सुविधा न होने से ग्रामीण आज भी रोजमर्रा की जरूरत को पीठ पर लादकर ले जाने को मजबूर हैं। आपातकाल में स्थिति और भी बदतर हो जाती है जब मरीज को पालकी में डालकर मुख्य मार्ग तक पहुंचाना पड़ता है। कई मर्तबा मरीज समय पर चिकित्सीय सुविधा न मिलने से बीच रास्ते में दम तोड़ जाते हैं। ग्रामीणों की सड़क सुविधा की मांग आश्वासनों तक सिमटकर रह गई है। जानकारी के अनुसार कुड्डी पंचायत के खोपरू, देलग, सैइया, सियउला, थनोली, द्र्रमण व मठोलू गांवों के लोगों का सड़क सुविधा जुड़ने का सपना अभी तक साकार नहीं हो पाया। सड़क सुविधा न होने से पंचायत के यह गांव विकास की दौड़ में भी पिछड़कर रह गए हैं। ग्रामीणों की मानें तो वे कई बार इन गांवों को सड़क सुविधा से जोड़ने की मांग विभिन्न मंचों पर उठाकर चुके हैं, लेकिन सिवाय आश्वासनों के कुछ भी हासिल नहीं हो पाया है। जिससे ग्रामीण खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि सडक सुविधा न होने से आज भी कई किलोमीटर का पैदल सफर कर घर पहुंचने को मजबूर हैं। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व हलके के विधायक विक्रम जर्याल से इन गांवों को जल्द सड़क सुविधा से जोड़कर राहत पहुंचाने की गुहार लगाई है।