Friday, December 06, 2019 09:44 PM

कुनिहार ब्वायज स्कूल की जर्जर इमारत होगी डिस्मेंटल

कुनिहार-राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक छात्र स्कूल कुनिहार की वर्ष 1984 में निर्मित पुरानी व जर्जर इमारत को उपायुक्त सोलन द्वारा गिराने के आदेश जारी कर दिए हैं। जिसकी वजह से उक्त इमारत में चलने वाली कक्षाओं को बैठने के लिए अब अतिरिक्त भवन ही नहीं है। जिसके चलते विद्यालय प्रशासन ने उक्त इमारत में चलने वाली कक्षाओं के लिए किराए के अतिरिक्त भवन की मांग कर दी है। जानकारी के अनुसार वर्ष 1984 में राजकीय छात्र वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुनिहार की इमारत का निर्माण किया गया था। जिसमंे वर्तमान में जीव विज्ञान एरसायन विज्ञान की प्रयोग शालाये व तीन कक्षा कमरों के अतिरिक्त एक परीक्षा हाल निर्मित था । जिसमे कक्षा 11 व 12 के विद्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था कर रखी थी। पुरानी व जर्जर इमारत होने की वजह से दिनांक 6 नवम्बर 2019 को कार्यालय आदेश संख्या सीसीटीटी 7,15,2015, 997 उपयुक्त सोलन द्वारा जारी किए गए। जिसकी वजह से अब उक्त इमारत में बैठने वाले स्कूली बच्चों को बैठने के लिए अब अतिरिक्त भवन ही नहीं है। वहीं स्कूल प्रशासन ने अब  शिक्षा उपनिदेशक उच्चतर को लिखित मांग पत्र देकर कहा कि पुरानी इमारत को गिराए जाने के आदेश के पश्चात विद्यार्थियों को बैठने के लिए अतिरिक्त भवन की आवश्यकता है। क्योंकि विद्यालय में इतने कमरे नहीं है जंहा पर विद्यार्थिओं को बैठाया जा सके। स्कूल प्रशासन ने पुरानी इमारत में चलने वाली कक्षाओं को सुचारू रूप से चलाने के लिए किराए के एक निजी भवन की भी मांग की है।  इसी विषय बारे प्रधानाचार्य राजकीय छात्र वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुनिहार भूपेंद्र ठाकुर ने कहा कि वर्ष 1984 में निर्मित पुरानी जर्जर इमारत को गिराए जाने के आदेश उपयुक्त सोलन से मिल गए हैं। उक्त इमारत में कक्षा 11 व 12 के विद्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था थी।इसके अतिरिक्त एक परीक्षा हाल व प्रयोगशाला भी चलाई जा रही थी। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रशासन ने उप निदेशक उच्च शिक्षा उच्चतर से अतिरिक्त इमारत की मांग की है। ताकि विद्यार्थियों को बैठाया जा सके। इस बारे जब एसडीएम अर्की विकास शुक्ला से बात की गई तो उन्होंने कहा यह मामला उनके संज्ञान में है जल्द ही कक्षाओं को चलाने के लिए किराए पर कमरे या किसी विभाग के खाली कमरों का इस्तेमाल किया जाएगा ।