Saturday, July 04, 2020 05:23 PM

कुल्लू में खुलेंगे दो माह से बंद सैलून व बार्बर शॉप्स

मनाली-लॉकडाउन के कारण कुल्लू जिला  में दो महीनों से बंद पड़े सैलून एवं बार्बर शॉप्स को खोलने की मंजूरी दे दी गई है, लेकिन इन दुकानों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए विशेष एहतियात बरतनी होगी तथा इनमें पर्याप्त प्रबंध करने होंगे। इस संबंध में रविवार को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी करते हुए जिलाधीश डा. ऋचा वर्मा ने बताया कि हर सैलून या दुकान के प्रवेश द्वार पर सेनेटाइजर रखना अनिवार्य होगा तथा हाथों को सेनेटाइज करने के बाद ही ग्राहक अंदर जा सकेगा। ये दुकानें कर्फ्यू में ढील के समय ही खोली जा सकेंगी। प्रत्येक ग्राहक की एक रजिस्टर में एंट्री अनिवार्य होगी, जिसमें ग्राहक की पंजीकरण तिथि, संख्या, ग्राहक का नाम, उम्र, लिंग, पूरा पता और मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। सैलून में भीड़ नहीं होनी चाहिए तथा आपसी दूरी का भी विशेष ध्यान रखना पड़ेगा। जिलाधीश ने कहा कि भीड़ रोकने के लिए हेयर स्टाइलिस्ट अपने ग्राहकों को पहले ही मोबाइल पर समय देने की व्यवस्था कर सकता है। प्रत्येक ग्राहक के जाने के बाद कुर्सी को एक प्रतिशत सोडियम हाईपोक्लोराइट के साथ साफ करना अनिवार्य होगा। जिलाधीश ने कहा कि खांसी, बुखार, गले में खरास या सांस की समस्या अथवा इस तरह के लक्षण वाले लोग सैलून या बार्बर शॉप में न जाएं। सभी हेयर स्टाइलिस्ट ऐसे लोगों का पंजीकरण न करें। डा. ऋचा वर्मा ने बताया कि अभी फिलहाल केवल बाल काटने की अनुमति दी गई है। शेविंग, थ्रेडिंग और अन्य कार्यों पर पाबंदी रहेगी। सभी ग्राहकों के लिए मास्क अनिवार्य होगा। हेयर स्टाइलिस्ट के लिए मास्क, दस्ताने और टोपी अनिवार्य होगी। सिंगल यूज यानी डिस्पोजेबल तौलिए, नेपकिन, गाउन एवं ऐप्रन का ही प्रयोग करें। कैंची, कंघी, रोलर्स, ब्रश, स्ट्रीकिंग कैप, गार्ड व अन्य सभी उपकरणों को प्रत्येक उपयोग के बाद साफ  करना अनिवार्य होगा। ये पूरी तरह साफ  और सूखे होने चाहिए। साबुन और पानी से साफ  करने के बाद इन्हें एल्कोहल युक्त सेनेटाइजर से साफ करें। हेयर ड्रायर, ट्रिमर इत्यादि जिन उपकरणों को साफ  नहीं किया जा सकता है उनका प्रयोग बिलकुल न करें। दुकान में कोई भी प्रतिक्षा कक्ष नहीं हो और वहां पर कोई अखबार या पत्रिका भी न हो। दरवाजों के हैंडल, रेलिंग, कुर्सियां, काउंटर और बार-बार हाथ लगने की अन्य संभावित जगहों को नियमित रूप से सेनेटाइज करें। दस वर्ष से कम आयु के बच्चों तथा बुजुर्गों के प्रति विशेष सावधानी बरतें। हर सुबह शाम दुकान के पूरे परिसर में एक प्रतिशत सोडियम हाईपोक्लोराइट के साथ पोंछा लगाना तथा सेनेटाइज करना अनिवार्य होगा। जिलाधीश ने कहा कि सभी सैलून मालिक इन दिशा-निर्देशों का अक्षरशः पालन करें। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम सैलून एवं बार्बर शॉप्स के नियमित रूप से निरीक्षण सुनिश्चित करेंगे तथा इसकी रिपोर्ट प्रेषित करेंगे।