Tuesday, March 31, 2020 07:54 PM

कृषि मंत्री बोले, प्राकृतिक खेती अपना रहे हजारों किसान

केलांग - प्रदेश के हजारों किसान प्राकृतिक खेती को अब अपना रहे हैं। यही कारण है कि अब दिन प्रतिदिन प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों की संख्या बढ़ रही है। यह बात लाहुल-स्पीति के विधायक एवं कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश के वार्षिक अनुदान 45 फीसदी की वृद्धि के लिए वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और समस्त केंद्रीय नेतृत्व का आभार जताया है। मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का भी विशेष धन्यवाद किया क्योंकि 15वें वित्त आयोग  और केंद्र सरकार के सामने मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने सफलतापूर्वक तरीके से अपनी मांगों को रखा। इसके चलते केंद्र सरकार ने पहली बार प्रदेश के वार्षिक अनुदान में 45 फीसदी की वृद्धि की है।कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने कहा पड़ोसी राज्यों की अपेक्षा हिमाचल प्रदेश को सबसे अधिक अनुदान मिला है। प्राकृतिक खेती के लिए विशेष बजट का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि 2022 तक हिमाचल प्रदेश के किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा गया है। हिमाचल सरकार इस लक्ष्य को पूरा करने में लगी है। यही नहीं, प्राकृतिक खेती में हजारों किसानों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसी के कारण अब हिमाचल में प्राकृतिक खेती को अपनाने वाले किसानों की संख्या में दिन-प्रतिदिन इजाफा होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस जहरमुक्त प्राकृतिक खेती को एक मिशन के तौर पर लिया जा रहा है और इसे एक जन आंदोलन के तौर पर प्रदेश में शुरू किया गया है। हिमाचल का अनुदान बढ़ने से जन लुभावनी योजनाओं को ओर व्यापक तरीके से जनता तक पहुंचाया जाएगा।