Saturday, July 04, 2020 11:53 PM

कृषि में गहन रुचि जरूरी : विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने डा. कुलवंत राय शर्मा से बातचीत की

वनस्पति विज्ञान में करियर संबंधी विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने डा. कुलवंत राय शर्मा से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के मुख्य अंश..

डा. कुलवंत राय शर्मा

डीन, कालेज ऑफ फोरेस्ट्री, वानिकी विश्वविद्यालय नौणी

वनस्पति विज्ञान में करियर की क्या संभावनाएं हैं?

वनस्पति विज्ञान भारत में विज्ञान के छात्रों के बीच अध्ययन करने के लिए पसंदीदा विकल्पों में से एक है। वनस्पति विज्ञान अपने आप में बहुत ही विशाल विषय है तथा इसमें करियर चुनने का मतलब है कि पौधों से संबंधित किसी खास विषय जैसे वानिकी, बागबानी, कृषि इत्यादि क्षेत्रों में अनुसंधान एवं विकास से संबंधित जानकारी। इन विषयों में स्नातक की उपाधि के पश्चात उम्मीदवार भारतीय वन सेवाएं, राज्य वन सेवाएं, कृषि अधिकारी, बागबानी अधिकारी, विभिन्न बैंकों जैसे नाबार्ड इत्यादि में रोजगार प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा कृषि आधारित विभिन्न उद्योगों में भी रोजगार की अपार संभावनाएं हैं।

वनस्पति विज्ञान में कौन से विशेषज्ञ कोर्स किए जा सकते हैं?

स्नातक स्तर के लिए बारहवीं कक्षा में विज्ञान सहित उत्तीर्ण उम्मीदवार वनस्पति विज्ञान के विशेषज्ञ कोर्सों जैसे स्नातक वानिकी, स्नातक बागबानी, स्नातक कृषि, वनस्पति व स्नातक जैव प्रौद्योगिकी इत्यादि को चुन सकते हैं। बीएससी, एमएससी ,बॉटनी एंड फार्मेसी और बायोइन्फरमेटिक्स विषय में संबंधित विशेषज्ञ स्नातकोत्तर की डिग्री में प्रवेश ले सकता है।  डा.यशवंत सिंह परमार बागबानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय सोलन स्नातक स्तर पर स्नातक वानिकी एवं स्नातक बागबानी की डिग्रियां प्रदान करता है। स्नातकोत्तर स्तर पर एमएससी व पीएचडी वानिकी एवं बागबानी के विशेष क्षेत्रों में डिग्री प्रदान करता है।

रोजगार के विकल्प किन क्षेत्रों में हैं ?

वनस्पति विज्ञान के विशेषज्ञ पाठ्यक्रम में स्नातक की उपाधि के पश्चात उम्मीदवार सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों में रोजगार प्राप्त कर सकता है। सरकारी क्षेत्र में वानिकी स्नातक या वन परिक्षेत्राधिकारी, रेंज फोरेस्ट आफिसर, बागबानी स्नातक या बागबानी प्रसार अधिकारी हार्टिकल्चर एक्सटेंशन आफिसर एवं कृषि स्नातक या कृषि प्रसार अधिकारी एग्रीकल्चर एक्सटेंशन आफिसर इत्यादि के तौर पर रोजगार प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा बीज कीटनाशक,फफूंदी नाशक व खनन उद्योग आधारित कंपनियां भी इन विषयों के स्नातकों को रोजगार देती हैं। स्नातकोत्तर की डिग्री किसी विशेष विषय में करने के पश्चात अनुसंधान के क्षेत्र जैसे कृषि वैज्ञानिक, वानिकी वैज्ञानिक, बागबानी वैज्ञानिक इत्यादि एवं शिक्षा के क्षेत्र जैसे विश्वविद्यालयों व कालेजों में सहायक प्राध्यापक के पद पर भी रोजगार की संभावनाएं हैं ।

कहीं जॉब मिलने पर आरंभिक आय कितनी है?

इस क्षेत्र में आरंभिक आय उम्मीदवार की शैक्षणिक योग्यता एवं इस क्षेत्र के अनुभव पर निर्भर करती है। स्नातक स्तर की योग्यता वाला उम्मीदवार प्रारंभिक तौर पर लगभग 20000 रुपए प्रतिमाह का रोजगार प्राप्त कर सकता है।

जो युवा इस फील्ड को करियर के रूप में चुनना चाहते हैं उन्हें किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है?

वनस्पति विज्ञान को अपना करियर चुनने वाले प्रतियोगी को कोई विषेश चुनौतियों का सामना नहीं करना पड़ता है, लेकिन प्रतियोगी को अन्य विषयों की तरह इस विषय में भी मेहनती होना अनिवार्य है। इस विषय को अपना कार्यक्षेत्र चुनने के लिए प्रतियोगी की पौधों के साथ-साथ कृषि क्षेत्र में गहन रुचि होनी चाहिए

हिमाचल में इस करियर का क्या स्कोप है ?

हिमाचल में वानिकी स्नातक, वन परिक्षेत्राधिकारी रेंज फोरेस्ट आफिसर, बागबानी स्नातक बागबानी प्रसार अधिकारी हार्टिकल्चर एक्सटेंशन आफिसर एवं कृषि स्नातक कृषि प्रसार अधिकारी एग्रीकल्चर एक्सटेंशन आफिसर इत्यादि पदों पर रोजगार प्राप्त कर सकता है। सिविल सविसेज लोक सेवा में भी स्नातक की डिग्री के बाद प्रार्थी अपना करियर चुन सकता है। बागबानी एवं कृषि में स्नातकोत्तर की डिग्री (एमएससी) के पश्चात बागबानी विकास अधिकारी एवं कृषि विकास अधिकारी के तौर पर रोजगार प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा स्नातकोत्तर की विशेषज्ञ डिग्री के उपरांत अनुसंधान एवं शिक्षा के क्षेत्र में भी रोजगार के अवसर प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा प्रदेश के शिक्षा संस्थानों में भी प्रार्थी रोजगार पा सकता है ।

इस क्षेत्र में पदार्पण करने वाले युवाओं के लिए कोई संदेश दें?

इस क्षेत्र में पदार्पण करने वाले युवाओं के लिए मेरा यह संदेश है कि भारत देश की अर्थव्यवस्था कृषि, वानिकी, बागबानी पर आधारित है तथा इसके विकास की अपार संभावनाएं हैं। इसके अनुरूप इस विषय में शिक्षा का ज्ञान पाने वालों को करियर बनाने एवं अपना उपयुक्त योगदान देने का अच्छा अवसर मिलता है।

—मोहिनी सूद, नौणी