‘कृष्णा चली लंदन’ में धर्मपुर की आयरा

सीरियल में लीड रोल निभा रही मंडी की होनहार, बालीवुड में धूम मचाने को तैयार

सरकाघाट, धर्मपुर - कहते हैं कि सपनों की उड़ान जितनी बड़ी होती है, उतना ही कठिन होता है उनको पाना। सपनों को पूरा करने के लिए जी जान से मेहनत व लगन का होना जरूरी है। ऐसी लगन से अपनी मंजिल की ओर बढ़ रही है मनाली की युवती आयरा राजपूत। पुश्तैनी तौर पर मंडी जिला के धर्मपुर के  झरेड़ा (धवाली) गांव से तालुक रखने वाली आयरा ने जो सपने बचपन में देखे थे, उन्हें वह काफी हद तक पूरा करने में सफल हो चुकी है। आयरा बताती है कि बचपन से ही उसे पढ़ाई के साथ-साथ एक्टिंग का शौक था। बचपन में वह अक्सर शीशे के आगे खड़ी होकर एक्टिंग किया करती थी। आयरा ने अपनी शुरू की पढ़ाई प्राइमरी स्कूल हियुण पैहड़ धर्मपुर मंडी से और 12वीं तक की पढ़ाई अनिला महाजन सरस्वती विद्या मंदिर मनाली से और बीएससी की पढ़ाई आरकेएमबी कालेज शिमला से की है। काली दास और सावित्री देवी के घर में जन्मी (पौत्री) आयरा फिल्मी दुनिया में अपना आदर्श कंगना रणौत को मानती हैं। आयरा कहती है कि मेरे दादा-दादी और माता-पिता मेरे भगवान हैं, जिन्होंने मुझे हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया व हिम्मत दी, जबकि एक आम मध्यम परिवार से होने के नाते यह राह आसान नहीं थी। हाल ही में आयरा का कृष्णा चली लंदन सीरियल में धमाकेदार एंट्री हुई है। इस सीरियल में मेन हीरो की बहन का किरदार का रोल अदा कर रही है इस सीरियल में आयरा का नाम नैनी (चुटकी) भी है। आयरा का कहना है की जल्द मुझे बड़े पर्दे की फिल्मों में काम मिलने वाला है और सीरियल में तो बहुत ज्यादा काम मिलना शुरू हो गया है।

टीवी में देख कर नम हो जाती हैं आंखें

दादा-दादी काली दास दादी सावित्री देवी माता-पिता सलोचना ठाकुर और पिता रमेश चंद ठाकुर एवं रिश्तेदारों में बुआ मंजू, पिंकी, प्रवीना देवी और अन्य कंचना ठाकुर,  साहिल ठाकुर, बंटी ठाकुर, का कहना है कि हमने कभी यह नहीं सोचा था कि हमारी बहन,  बेटी, बालीवुड की दुनिया में अपना जलवा दिखाएगी। जब हम अपनी बेटी को टीवी पर देखते हैं तो हमारी आंखें खुशी से नम हो जाती हैं। हमें पता नहीं था कि हमारी बेटी बालीवुड की दुनिया में पूरे हिमाचल प्रदेश का नाम रोशन करेगी।