Saturday, April 20, 2019 01:44 PM

केंद्र के बजट पर पहाड़ों की रानी 50-50

शिमला में दिन भर बजट पर आकलन जारी रहा। किसी ने इसे जनता का हितैषी बताया तो किसी ने विरोधी। कई लोगों को लगा कि बजट में हर वर्ग का ख्याल रखा गया है, जबकि कइयों ने इसमें खामियां गिनाईं। किसने, क्या कहा बता रहीं हैं स्टाफ रिपोर्टर, दीपिका शर्मा

टैक्स में राहत देना अच्छा कदम

केंद्र द्वारा पेश किए गए बजट मंे टैक्स मंे दी गई राहत काफी बेहतर बजट का इशारा करती है। शिमला मंे निजी क्षेत्र मंे काम कर रहे राम शर्मा का कहना है कि इसका लाभ सरकारी क्षेत्र मंे काम करने वाले व्यक्ति को ही नहीं बल्कि निजी क्षेत्र मंंे कार्यरत व्यक्ति को भी इसक ा लाभ मिल पाएगा। सरकार ने आयकर छूट क ी समय सीमा ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख रूपए कर दी है जो एक आम आदमी के लिए बजट के लिए काफी बेहतर है।

रिटायर्ड कर्मियाें के लिए कुछ नहीं

सेवानिवृत कर्मचारी ओम प्रकाश शर्मा का कहना है कि देश मंे 12 करोड़  किसानांे को हर साल छह हजा़र रुपए एनबीएसपी दिए जाएंगें जो एक बेहतर कदम है। इसक ा लाभ दो हेक्टेयर भूमि वाले किसानांे को मिलेगा। उन्हांेने कहा कि सरकार ने आयकर छूट क ी समय सीमा ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख रूपए कर दी है जो एक आम आदमी के लिए बजट के लिए काफी बेहतर है।

और बढ़ाते सीमा

निजी क्षेत्र मंे काम कर रहे युवा नीरज का कहना है कि सरकार ने आयकर छूट की सीमा को बढ़ाया है लेकिन इसे और बढ़ाया जाना चाहिए था। सरकार ने आयकर छूट की सीमा ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख रुपय कर दी है। उन्होंने कहा कि इसे और बढ़ाया जाना चाहिए था। उन्हांेने कहा कि सरकार ने आयकर छूट क ी समय सीमा ढाई लाख से बढ़ाकर पांच लाख रूपए कर दी है जो एक आम आदमी के लिए बजट के लिए काफी बेहतर है।

ब्याज पाने पर राहत देना अच्छा

मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए बजट पर शिमला से हाउस वाइफ मिनाक्षी शर्मा का कहना है कि बैंक से ब्याज मंे राहत देना एक  अच्छे बजट की निशानी है। इसमंे यदि कोई महिला बैंक से पच्चास हजा़र का ब्याज पाती है तो उस पर टीडीएस नहीं लगेगा। वहीं केंद्र सरकार द्वारा उज्जवला योजना के तहत आठ करोड़ गैस कनेक्शन बांटे जाने का तोहफा भी दिया गया है। जिसमंे छ करोड़ सरकार बांट चुकी है। इससे गांव के क्षेत्र की महिलाआंे को विशेष लाभ मिल सकता है।