Tuesday, February 18, 2020 07:48 PM

केरल के पंचायती राज से प्रभावित

कांगड़ा जिला परिषद के 21 सदस्य भ्रमण के दौरान ले रहे प्रशिक्षण

बैजनाथ -कांगड़ा जिला परिषद के 21 सदस्य आज कल केरल के भ्रमण पर हैं ।  कांगड़ा जिला परिषद के उपाध्यक्ष विशाल चंबियाल की अगवाई में जिला परिषद सदस्य संजय शर्मा, सुनील, कुसुम राणा, संतोष राणा, कनिका, अनु भट्ट, रीता पठानिया, पूनम, ज्योति बाला,  विद्या देवी, अनुराधा, वीना, प्रतिभा, इंदुबाला, शशिबाला, कंचन, वंदना, सीमा, रीना राणा व पंचायती राज के एक कनिष्ठ अभियंता, एक पंचायत निरीक्षक तथा एक सहायक लिपिक साथ हैं। 21 से 25 जनवरी तक यह प्रशिक्षण शिविर केरल इंस्टीच्यूट ऑफ  लोकल एडमिनिस्ट्रेशन के अंतर्गत कोलाम जिला के कोत्तरक्कर में केरला सरकार के पंचायती राज के प्रबंधन एवं प्रशिक्षण हर दिवस सुबह नौ से दोपहर एक बजे तक और दो से शाम छह बजे तक जिला पंचायत, खंड पंचायत व ग्राम पंचायतों का दौरा करवाया जाता है।  केरल की जिला पंचायत बहुत ही प्रभावशाली है। प्रत्येक जिला परिषद सदस्य को ग्रामीण विकास के लिए 60 करोड़  रुपए, पंचायत समिति सदस्य को छह करोड़ और पंचायत प्रधान को दो करोड़ रुपए प्रति वर्ष निधि के तौर पर दिए जाते हैं। जिला अस्पताल, महाविद्यालय, राज्य  व जिला स्तरीय सड़कें आदि संस्थान जिला परिषद के अंतर्गत आते है, जिसका निर्माण भी जिला पंचायत जिला परिषद के माध्यम से होता है। जिला परिषद के सभी सदस्य  केरल की पंचायती राज से बहुत प्रभावित हुए। जिला परिषद सदस्य कुसुम राणा  का कहना है कि वहां के लोग मेहनती, ईमानदार, मधुरभाषी और उच्च शिक्षित है।