Monday, July 13, 2020 10:12 AM

केलांग में बर्फबारी का दौर 

लाहुल में हिमपात से यातायात ठप; निगम ने मौसम साफ होने तक बस सेवा पर लगाई रोक, जनजीवन अस्त व्यस्त

केलांग - जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति गुरुवार को बर्फबारी का दौर एक बार फिर शुरू हो गया। घाटी में पांच माह बाद बहाल की गई एचआरटीसी की बस सेवा भी इस दौरान प्रभावित हुई है। जनजाति जिला लाहुल-स्पीति में गुरुवार को आसमान से सफेद आफत के बरसने का दौर शुरू होते ही कबायलियों की जहां दिक्कतें बढ़ गई हैं, वहीं घाटी में यातायात व्यवस्था भी ठप हो गई है। एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगल चंद मनेपा ने बताया कि लाहुल में गुरुवार को हल्की बर्फबारी का दौर दिन भर रुक-रुक कर जारी रहा। उन्होंने बताया कि खराब मौसम के कारण घाटी में एचआरटीसी की बस सेवा भी प्रभावित हुई है। उन्होंने बताया कि उदयपुर से केलांग आने वाली बस को यात्रियों समेत थिरोट के समीप से वापस उदयपुर लौटना पड़ा, वहीं खराब मौसम को ध्यान में रख निगम ने घाटी में बस सेवा को मौसम के साफ  होने तक रोक दिया है। उन्होंने बताया कि पांगी में जहां गुरुवार को बर्फबारी होने से निगम की बस सेवा यहां पर भी प्रभावित हुई है। उल्लेखनीय है कि जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति में गुरुवार को खराब मौसम ने जहां यातायात व्यवस्था को ठप कर डाला है, वहीं कबायलियों की दिक्कतें भी बड़ा डाली है। रोहतांग दर्रे पर गुरुवार शाम तक करीब आधा फुट ताजा बर्फबारी दर्ज की जा चुकी थी। ऐसे में दर्रे पर बर्फबारी का दौर शुरू होते ही मनाली-लेह मार्ग बहाली के कार्य में जुटे बीआरओ के लिए भी खराब मौसम ने नई चुनौतियां पैदा कर रही है। उधर, बीआरओ के कमांडर कर्नल उमाशंकर का कहना है कि रोहतांग दर्रे सहित लाहुल-स्पीति में गुरुवार को हल्की बर्फबारी का दौर दिनभर चलता रहा। उन्होंने बताया कि खराब मौसम के कारण मिशन रोहतांग का कार्य भी लगातार प्रभावित हो रहा है। उन्होंने बताया कि बीआरओ मौसम के साफ होने के बाद ही रोहतांग दर्रे की बहाली का कार्य शुरू कर पाएगा। यहां बता दें कि जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के लोगों की आवाजाही जहां अटल टनल से आगामी दो माह के लिए बंद की गई है, वहीं रोहतांग दर्रे पर बर्फबारी का दौर एक बार फिर शुरू हो जाने से दर्रे को पैदल लांघना भी लाहुल के लोगों के लिए खतरों भरा हो गया है। जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति में लगातार बदल रहे मौसम ने जहां घाटी में जनजीवन अस्त-व्यस्त कर डाला है। वहीं मार्च माह के दूसरे सप्ताह में भी घाटी में जनजीवन पटरी पर लौट नहीं पाया है। गुरुवार को भी घाटी में मौसम खराब बना रहा ऐसे में  जहां बर्फबारी व बारिश का दौर चलता रहा, वहीं कबायलियों की दिक्कतें भी बढ़ती दिखाई दीं। बरहाल खराब मौसम ने लाहुल-स्पीति के लोगों की दिक्कतें बढ़ा डाली है।