Thursday, November 14, 2019 02:17 PM

कैमरे में कैद होंगे नशेड़ी

शिमला - राजधानी शिमला के शिक्षण संस्थानों में अब सीसीटीवी कैमरे से नशेडि़यों पर नजर रखी जाएगी। शिक्षा विभाग के साथ अब जिला प्रशासन भी शिक्षण संस्थानों में नशे को लेकर विशेष अभियान चलाने जा रहा है। इसी के तहत जिला प्रशासन सबसे पहले शिमला के स्कूल कालेजों में सीसीटीवी कैमरे लगे  हैं या नहीं इस पर पैनी नजर रखेगा, वहीं जिला प्रशासन की टीम शिमला के सरकारी व निजी स्कूल कालेजों में इसी माह निरीक्षण करेगी, निरीक्षण के दौरान प्रशासन की टीम यह चैक  आउट करेगी कि कितने स्कूलों के गेट के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। दरअसल जिला प्रशासन ने साफ किया है कि अब स्कूल, कालेज व कैंपस के साथ ही गेट के बाहर भी सीसीटीवी कैमरे लगाने अनिवार्य हैं। जिला प्रशासन ने शहर के सभी स्कूल कालेजों को इस बारे में आदेश जारी कर दिए हैं। वहीं आदेश जारी किए हैं कि वे जल्द गेट के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाने के बाद फोटो सहित जानकारी भेजें। जिला प्रशासन ने साफ किया है कि अब जिन स्कूल प्रबंधन द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगाने को लेकर जानकारी नहीं भेंजी जाएगी, उन स्कूलों को नोटिस भेजे जाएंगे। बता दें कि स्कूलों में 15 नवंबर से 15 दिसंबर तक एक अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत जहां स्कूलों में जाकर अधिकारी छात्रों की काउंसिलिंग करेंगे, वहीं शिक्षा संस्थानों में नशे को लेकर अभी तक क्या कार्य किए गए, इस बारे में भी रिपोर्ट तलब की जाएगी। बताया जा रहा है कि अब कितने स्कूलों के गेट के पास सीसीटीवी लगे हैं, इस पर अधिकारी खुद भी मौके पर जाकर रिपोर्ट बनाएंगे। ऐसे में अब स्कूलों को सतर्क रहने की भी जरूरत है। गौर हो कि अगर निजी व सरकारी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लग जाते हैं, तो ऐसे में संस्थानों के आस पास नशीले पदार्थ बेचने वालों पर लगाम लगाना आसान हो जाएगा।