Monday, June 24, 2019 04:20 PM

कोई नशा मिटाएगा, कोई सेहत सुधारेगा

सोलन के लोग मौका मिलने पर हिमाचल प्रदेश में राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक व प्रशासनिक सहित अन्य क्षेत्रों में परिवर्तन लाना चाहते हैं। किसानों से लेकर समाज के हर वर्ग की आवाज उठाने को लोग बेताब हैं। नशे के दलदल में धंस रही युवा पीढ़ी को बचाने के लिए कठोर कदम उठाना चाहते हैं। भ्रष्टाचार को जड़ से मिटाने को दृढ़ संकल्प। यदि मौका मिला तो हिमाचल में क्या परिवर्तन लाएंगे पर सोलन में जब लोगों की नब्ज टटोली, तो उन्होंने बेबाक होकर अपनी बात इस प्रकार रखी...    आदित्य सोफत-सोलन

मौका मिला तो करूंगी नशे का नाश

वेद ज्योति चंदेल, खुंडीधार, सोलन

सोलन के खूंडीधार की रहने वाली वेद ज्योती चंदेल का कहना है कि आमतौर पर देखने को मिल रहा है कि प्रदेश की युवा पीढ़ी नशे के दलदल में धंसती जा रही है। यदि हिमाचल में परिवर्तन लाने का उन्हें मौका मिलता है तो वह सबसे पहले नशे  का नाश करना चाहेगीं, ताकि युवा पीढ़ी को इसे जहर से दूर रखा जा सके ।

सरकारी स्कूलों में अपने बच्चों को पढ़ाएं शिक्षक

आकांक्षा धर्मपुर

धर्मपुर की आकांक्षा का कहना है कि यदि उन्हें हिमाचल में परिवर्तन करने का मौका मिले तो वह सरकारी स्कूल के अध्यापकों के बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ाने के लिए कहेंगी। इससे बच्चों की वास्तविक स्थिति का पता चल पाएगा। आकांक्षा का कहना है कि वर्तमान में सरकारी स्कूलों के अध्यापक अपने बच्चों को निजी व अन्य स्कूलों में पढ़ा रहे है।

पर्यावरण पर देंगे ध्यान

अंकुर गोयल

अंकुर गोयल का कहना है कि यदि यदि हिमाचल में परिवर्तन का मौका मिले तो वह पर्यावरण की ओर अधिक ध्यान देंगे। क्योंकि हिमाचल में टूर्रिम के अच्छे स्कोप है और रोजाना हजारों पर्यटक शांत वादियों में आते है लेकिन प्रतिदिन बढ़ते प्रदूषण व अन्य चीजों से वातावरण दूषित होता जा रहा है। उनका कहना है कि यदि हमारे पर्यावरण सही होगा तो हम बीमारियों से भी बच पाएंगे।

बागबानी तकनीकों में करेंगे परिवर्तन

सुरेंद्र

सुरेंद्र का कहना है कि वह कृषि व बागबानी तकनीकों में परिवर्तन करेंगे। इसी के साथ किसानों के लिए अच्छी व्यवस्था व इनपर अच्छा बजट खर्च किया जाएगा। ताकि किसान व बागवान हर वर्ष अच्छा कार्य कर सके। वहीं सभी फसलों का समर्थन मूल्य भी अच्छा मिल सके। क्योंकि हिमाचल के अधिकतर लोग खेतीबाड़ी पर निर्भर है।

स्वास्थ्य सुविधाओं को ठीक करेंगे

साहिल शर्मा

साहिल का कहना है कि यदि उन्हें कभी हिमाचल में परिवर्तन करने का मौका मिले तो वह स्वास्थ्य सुविधाओं को ठीक करेंगे। वर्तमान में अधिकतर अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाएं सही नहीं है। इसके चलते लोगों को निजी अस्पतालों में अपने इलाज के लिए धक्के खाते है। यह सभी सुविधाएं  सरकारी अस्पतालों में भी मिलनी शुरू हो जाए तो लोगों को अच्छी सुविधा मिल जाएगी ।