Monday, September 23, 2019 01:48 AM

कोमली बैंक में बारिश से धंसी सड़क

शिमला -कहर बरसाती बारिश ने सरकार और प्रशासन की पोल खोल कर रख दी है । नगर निगम महापौर व  पार्षद कुसुम सदरेट के वार्ड के अंतर्गत कोमली बैंक में बारिश से जहां सड़क धंस गई है और उस पर अभी भी रिस्क पर वाहन चलाऐ जा रहे हैं जिससे कोई भी अप्रिय दुर्घटना हो सकती है ।यह आरोप  सामाजिक सस्थां उद्वोश ने लगाया है। संस्था के चेयरमैन हेमराज ने आरोप लगाया कि ही कोमली बैंक में ख़तरनाक पेड़ों से जान-माल का नुकसान होने का ख़तरा पैदा हो गया है । इन ख़तरनाक पेड़ों के गिरने का ख़ौफ  क्षेत्रवासियों में बना हुआ है । इन पेड़ों को काटने अथवा उनकी छंटाई करने की गुहार अनेकों बार लिखित एवं मौखिक रुप से उद्घोश संस्था ने महापौर एवं प्रशासन को दी है । इसके बावजूद वन विभाग अथवा प्रशासन ने इस पर कोई कारवाई नहीं की है । एक सूखा पेड़ तो किसी भी समय गिरने की के कगार पर हैं जो कि वहां स्थित मकानों पर गिरता है तो बड़ा नुकसान हो सकता है । उन्होंने कहा कि शिकायत करने के बावजूद कोई कारवाई नहीं की जा रही है । यहां सड़क के साथ 5 से 10 पेड़ ऐसे हैं कि लगातार हो रही बारिश में कभी भी गिर सकते हैं और बड़ा हादसा हो सकता है। उन्होंने कहा कि सामाजिक संस्था उद्घोश इस बाबत महापौर से मिला था और लोगों ने मौका पर भी इस समस्या को बताया था । प्रशासन इस प्रतीक्षा में हैं कि जब कोई बड़ा हादसा होगा तभी उसकी नींद जागेगी। सामाजिक संस्था उद्घोश एवं समस्त क्षेत्रवासी आग्रह किया है कि इन ख़तरनाक पेड़ों को तुरंत काटा जाए और छंटाई की जाए ताकि जानमाल के नुकसान को रोका जा सके । लोगों में ख़ौफ है जिससे प्रशाासन आंखे मंूद कर बैठा है । महापौर और जिलाधीष से आग्रह किया है इस समस्या पर शीघ्र ही नींद से जागे और लोगों को सुरक्षा प्रदान करें।