Saturday, August 15, 2020 12:40 PM

कोरोना की जंग में अफसरों ने दिया एक दिन का वेतन

चुवाड़ी -हिमाचल में  कोरोना के खिलाफ  जंग को खंड विकास अधिकारियों ने सबसे बड़ा समर्थन दिया है। सामाजिक सरोकारों में अपनी भूमिका को बखूबी समझते हुए प्रदेश भर के बीडीओ ने मुख्यमंत्री राहत कोष को सींचते हुए अपने वेतन का अंश भी भेंट करने का ऐलान किया है। यह घोषणा इसलिए भी अहम है, क्योंकि इससे प्रदेश के कर्मियों के अलावा आमजन को इस मुश्किल की घड़ी में लड़ने की शक्ति मिलेगी। हिमाचल प्रदेश खंड विकास अधिकारी एसोसिएशन सरकार की कोरोना वायरस के खिलाफ  जारी जंग में सहयोग के तौर पर एक दिन का वेतन और दो लाख रुपए की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फैसला लिया है। उन्होंने साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश सरकार के प्रयासों की जमकर सराहना की। यहां जारी एक बयान में खंड विकास अधिकारी एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष सुरजीत ठाकुर, महासचिव सोनू गोयल, उपाध्यक्ष निशांत शर्मा, जयवंती व केहर सिंह राणा, संरक्षक संजीत ठाकुर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष अभिनीत कात्यान, विद्या देवी व कीर्ति चंदेल, सह-सचिव यशपाल परमार, विजयकांत नेगी व हितेंद्र कुमार और प्रेस सचिव एवं खंड विकास अधिकारी भटियात डा. बशीर खान, गौरव धीमान,  नीन शर्मा व कोषाध्यक्ष राजकुमार ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते उत्पन्न हुई आपात स्थिति में एसोसिएशन के पदाधिकारी व सदस्य प्रदेश सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में चिकित्सीय व पैरामेडिकल स्टाफ और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के कार्य को भी सराहा है। एसोसिएशन का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर प्रदेश सरकार के बेहतर कार्य को देखते हुए ही एक दिन का वेतन और दो लाख रुपए नकद मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करवाने का फैसला आम सहमति से लिया गया है। उन्होंने कहा है कि जल्द ही यह राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में आरटीजीएस कर दी जाएगी। बहरहाल, हिमाचल प्रदेश खंड विकास अधिकारी एसोसिएशन ने कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए एक दिन का वेतन और दो लाख रुपए की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का ऐलान किया है।