Saturday, July 04, 2020 05:11 PM

कोरोना की मार…थम गया कारोबार…वेल्ले हो गए दुकानदार

चाय नगरी पालमपुर में लॉकडाउन के खुलने के बाद भी कारोबार पटरी पर नहीं लौट पाया है। मंदी के चलते दुकानदारों की दिक्कतें बढ़ गई है। दिनभर ग्राहकों का इंतजार करने के बाद निराश घरों को लौट रहे हैं। ‘दिव्य हिमाचल’ ने जब दुकानदारों की नब्ज टटोली तो यूं सामने आए जज्बात…

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-पालमपुर

कारोबार पर पड़ रहा बुरा असर

जूस व फ्रूट शॉप के मालिक अंकित चंदेल का कहना है कि इस मंदी में दुकानों को खोलने के समय में बढ़ोतरी होनी आवश्यक है। दोपहर 11 बजे तक ग्राहक दुकान में पहुंचने लगते हैं। लेकिन दो बजे तक फिर से दुकान में बंद करनी पड़ती है, जिससे व्यापार में बुरा असर पड़ रहा है।

ग्राहकों के इंतजार में बैठे-बैठे निराश

नेहरू चौक स्थित कन्फेक्शनरी की दुकान वाली स्नेह सूद का कहना है कि लगभग दस फीसदी ग्राहक ही दुकानों पर पहुंच पा रहे हैं । लॉकडाउन के दौरान ग्राहकों के बिना  दुकान पर बैठकर छह घंटे बिताना मुश्किल हो रहा है। बाहर से सामान नहीं पहुंच रहा है। ऐसे में ग्राहक भी निराश लौट रहे हैं।

ग्राहकों के न आने से निराश

प्रमुख व्यापारी अनिल संदल ने बताया कि लॉकडाउन के चलते सुबह-सुबह दुकानों को सजाना तथा छह घंटे तक ड्यूटी बजाना रोजमर्रा का कार्य बन गया है। दो घंटे का समय तो दुकान सजाने में लग जाता है, ऐसे में ग्राहकों के न आने से निराश घरों को लौटना पड़ रहा है।

नई वैरायटी न होने से थमा कारोबार

रेडीमेड कपड़ों का व्यापार करने वाले परविंद्र भाटिया बताते हैं कि दिल्ली  व अन्य राज्यों से कपड़ों की नई वैरायटी नहीं पहुंच पा रही है, जिस कारण व्यापार चलाना मुश्किल हो गया है। कारोबार 20 फीसदी पर अटक गया है। लोग कपड़ों की नई वैरायटी मांग रहे हैं, लेकिन उनकी डिमांड को लॉकडाउन के दौरान पूरा करना एक असंभव कार्य है। ।

लॉकडाउन के बढ़ाई दुकानदारों की दिक्कतें

इलेक्ट्रिकल गुड्स व फिटिंग का कारोबार करने वाले गुरमीत सिंह बताते हैं कि लॉकडाउन के दौरान इलेक्ट्रिकल्स के कारोबार को चलाने के लिए भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा  है। अब इस कारोबार ने कुछ रफ्तार पकड़ी है, परंतु अभी तक मात्र 20 फीसदी ही कार्य हो रहा है । क्योंकि दूसरे राज्यों से इलेक्ट्रिकल्स  गुड्स पर फिटिंग का सामान बहुत ही कम मात्रा में आ रहा हैं । दूसरा पहलू यह है कि घरों इत्यादि में भी लोग   फिटिंग करवाने से परहेज कर रहे हैं।

रोजमर्रा की वस्तुएं लेने ही पहुंच रहे ग्राहक

मल्टीपर्पज स्टोर संचालक दिपांकर शर्मा का कहना है कि लॉकडाउन के बाद बाजार खुलने के बाद बेहतर कारोबार की उम्मीद फिलहाल पूरी होती नहीं दिख रही है। दुकान पर रोजमर्रा की जरूरत की वस्तुएं खरीदने के लिए ही ग्राहक पहुंच रहे हैं। दिपांकर शर्मा का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से सामाजिक समारोहों पर रोक के चलते भी लोग खरीददारी नहीं कर रहे हैं।

The post कोरोना की मार…थम गया कारोबार…वेल्ले हो गए दुकानदार appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.