कोरोना में डमी के साथ अभ्यास करेंगे पहलवान: सुशील

नई दिल्ली- दो बार के ओलम्पिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार ने कहा है कि कोरोना वायरस के अभूतपूर्व संकट के समय में पहलवानों को फिलहाल डमी (पुतलों) के साथ अभ्यास करना होगा।  आज 37 साल के हुए सुशील ने यूनीवार्ता के साथ विशेष बातचीत में कहा, “खिलाड़ियों खासकर पहलवानों की ट्रेनिंग पर कोरोना का काफी असर पड़ा है। कुश्ती दो पहलवानों की आपसी भिड़ंत का खेल है जबकि कोरोना में सामजिक दूरी बनाये रखना जरूरी है।” बीजिंग ओलम्पिक 2008 में कांस्य और लंदन ओलम्पिक 2012 में रजत पदक जीतने वाले सुशील ने कहा, “मैं लॉकडाउन का पालन करते हुए व्यक्तिगत ट्रेनिंग कर रहा हूं। हमें भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने दिशा निर्देश दिए हैं कि हम डमी के साथ अभ्यास करें ताकि ट्रेनिंग का सिलसिला बना रह सके।”  सुशील ने साथ ही कहा, “हालांकि डमी के साथ ट्रेनिंग करना आसान नहीं होगा क्योंकि सामान्य अभ्यास के दौरान आप अपने अभ्यास पार्टनर के साथ ट्रेनिंग करते समय विपक्षी दांव पेच को भांप सकते हैं और उसी के हिसाब से डिफेंस तथा अटैक का अभ्यास कर सकते हैं लेकिन डमी के साथ अभ्यास में ऐसा नहीं हो सकता है।”

सुशील के गुरु महाबली सतपाल ने भी कहा कि पहलवान अब डमी के साथ अभ्यास कर सकेंगे क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि एक पहलवान एक ही डमी के साथ अभ्यास करेगा और दूसरा पहलवान उस डमी का इस्तेमाल नहीं करेगा। द्रोणाचार्य अवार्डी कोच सतपाल ने कहा, “उनके छत्रसाल अखाड़े में इस समय 35 डमी हैं और हर डमी पर पहलवान का नाम तथा उसका वजन वर्ग लिखा रहेगा जिससे पहलवान अपने डमी के साथ ही अभ्यास करेग। पहलवान किसी अन्य की डमी का इस्तेमाल नहीं करेगा। हम एक जून से डमी के साथ अभ्यास शुरू करेंगे।”  सतपाल ने कहा, “यह सही है कि डमी के साथ अभ्यास में पुरानी वाली बात नहीं होगी लेकिन इससे यह सुनिश्चित होगा कि पहलवान की ट्रेनिंग जारी रहे और वह अपने दांव-पेच आजमाता रहेगा। इससे अभ्यास बना रहेगा और जब हालात सामान्य होंगे तो पहलवान अपनी सामान्य ट्रेनिंग में लौट सकेगा।”  उन्होंने कहा, “अभी तक पहलवानों को व्यक्तिगत ट्रेनिंग कराई जा रही थी जिसमें स्प्रिंट, रस्सा चढ़ना, सीढ़ियां चढ़ना और उतरना शामिल है। इससे पहलवान की फिटनेस बनी रहती है।”   सुशील ने माना कि कोरोना के संकट से निकलने में अभी समय लगेगा और संकट समाप्त होने के बाद भी हालात जल्दी सामान्य नहीं हो पाएंगे। उन्होंने कहा कि वह छत्रसाल स्टेडियम में निजी अभ्यास से खुद को फिट रखने की कोशिश में लगे हुए हैं और वह सभी खिलाड़ियों से अपील करते हैं कि वे निजी तौर पर अपना अभ्यास जारी रखें और खुद को फिट रखें।

Related Stories: