Monday, July 13, 2020 11:28 AM

कोरोना वायरस ने डराया लाहुल-स्पीति

केलांग-कोरोना वायरस को लेकर लाहुल के लोगों को जागरुक करने व बाहर से आ रहे लोगों की गतिविधियों पर नजर रखने की तैयारी अब लाहुल-स्पीति प्रशासन ने कर ली है। विश्व के अधिकतर देशों में जहां कोरोना वायरस का कहर बरपना शुरू हो गया है, वहीं देश के कुछ राज्यों में भी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के सामने आने के बाद  प्रदेश के लोगों में भी हड़कंप मच गया है। कोरोना वायरस के खतरे के भांपते हुए लाहुल-स्पीति के लोग जहां डरे सहमें से हैं, वहीं प्रशासन ने भी इस संबंध में लोगों को जागरूक करने व सावधानी बरतने को लेकर कसरत शुरू कर दी है। बुधवार को लाहुल-स्पीति के जिला मुख्यालय केलांग में  कोरोना वायरस के संभावित खतरे को लेकर विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता एसडीएम केलांग अमर नेगी ने की। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. पलजोर ने कोरोना वायरस के लक्षणों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने लोगों  से आह्वान किया  कि नाक बहने, सिर दर्द, बुखार अथवा गले में दर्द होने की स्थिति में तत्काल चिकित्सक के पास जा कर जांच करवाएं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि अधिक भीड़ वाले स्थानों में न जाएं। भोजन करने से पूर्व हाथों को अच्छे से साफ  करें। एसडीएम केलांग अमर नेगी ने इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अधिकारियों, हिमाचल पथ परिवहन, होटल एसोसिएशन के पदाधिकारियों एवं टैक्सी संचालकों से आग्रह किया कि उपरोक्त लक्षणों से पीडि़त व्यक्तियों का पता चलने पर तत्काल इसकी सूचना नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र को दें, ताकि आवश्यक जांच की जा सके। उन्होंने कहा कि रोहतांग दर्रे के बहाल होने के बाद जहां घाटी में भारी संख्या में प्रवासी मजदूरोें पहुंचते हैं, वहीं उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि इस दौरान वह प्रवासी मजदूरों व बाहर से आने वाले लोगों पर विशेष नजर रखें। जुखाम, बुखार अथवा सिर दर्द से पीडि़त मजदूर की जानकारी स्थानीय अस्पताल को अवश्य दें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मौसम के खुलते ही घाटी के लोगों को कोरोना वायरस के बारे में जागरूक करें।