Monday, August 26, 2019 11:19 AM

कौन बनेगा नया उपाध्यक्ष

नालागढ़—वर्ष 1951 की पुरानी परिषदों में शुमार नगर परिषद नालागढ़ को एक और उपाध्यक्ष मिलना तय है, लेकिन उपाध्यक्ष पद का ताज किसके सिर सजता है, इसे लेकर जहां संशय बना हुआ है, वहीं सियासी गलियारों में चर्चाओं का दौर गर्म है। अध्यक्ष सहित पांच पार्षदों ने तीन जुलाई को उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया है, जिस पर लोर टेस्ट की तिथि तय होने से पहले ही उपाध्यक्ष नीलम खुल्लर ने अपना त्यागपत्र दे दिया है। ऐसे में अब मौजूदा अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले पार्षदों में से ही किसी एक का उपाध्यक्ष बनना करीब करीब तय माना जा रहा है। नालागढ़ परिषद में नौ पार्षद आते हंै और बहुमत साबित करने के लिए पांच पार्षदों का होना अनिवार्य है और ऐसे में पांच पार्षद एकजुट हुए और उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया है। जानकारी के अनुसार नगर परिषद नालागढ़ में इस बार के कार्यकाल में तीसरा उपाध्यक्ष मिलेगा। अविश्वास प्रस्ताव लाने वालों में मौजूदा अध्यक्ष एवं वार्ड-आठ की पार्षद नीरू शर्मा, पार्षद महेश गौतम, धर्मेंद्र राणा, आशा गौतम व सरोज शर्मा शामिल हंै। इसमें से पार्षद महेश गौतम इस कार्यकाल में सबसे पहले परिषद के अध्यक्ष रह चुके हंै, जबकि पार्षद सरोज शर्मा भी उपाध्यक्ष पद पर आसीन हो चुकी हंै। इन पांच पार्षदों में से धर्मेंद्र राणा व आशा गौतम ही हंै, जिन्हें अब तक अध्यक्ष या उपाध्यक्ष की पदवी नहीं मिली है। पार्षद धर्मेंद्र राणा इससे पहले अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ चुके हंै, लेकिन एक वोट से उन्हें शिकस्त झेलनी पड़ी थी, लेकिन मौजूदा परिस्थिति में अपना समर्थन अन्य पार्षदों को देने के बाद उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने में उनकी भूमिका भी रही है। पार्षद आशा गौतम की भी मजबूत दावेदारी उपाध्यक्ष पद के लिए मजबूत मानी जा रही है। इन दोनों पार्षदों में से किसी एक का उपाध्यक्ष बनना तय माना जा रहा है, लेकिन बताया जाता है कि उपाध्यक्ष पद के चुनाव से पूर्व अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले इन पांचों पार्षदों के मध्य बैठक होगी, जिसमें उपाध्यक्ष के नाम पर अंतिम मोहर लगेगी, जिसे उपाध्यक्ष के चयन की तारीख वाले दिन सार्वजनिक किया जाएगा। एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने कहा कि आगामी आदेश आने के बाद ही उपाध्यक्ष के चयन का दिन तय किया जाएगा।