Friday, August 14, 2020 02:22 PM

क्वारंटीन का किस्सा…हर तिनके पर नजर

शिमला में 500 से ज्यादा एकांतवास में गए लोगों के घरों से अलग से उठ रहा कूड़ा

शिमला-शिमला सिटी में डोर तो डोर गारबेज उठाने के साथ साथ क्वारंटीन मे रखे लोगों के लिए एमसी आयुक्त ने खासतौर पर एहतियात बरतने के आदेश जारी किए हैं। इन आदेशों में सभी सेनेटरी इंस्पेक्टर पहले इन लोगों के पास जाकर कूड़े के लिए रखे बैग को सेनेटाइज कर रहे हैं और उसके बाद एमसी द्वारा दिए गए पीले रंग के बैग को भी अलग से सेनेटाइज किया जा रहा है। यही नहीं गाड़ी को भी पूरी तरह से सेनेटाइज करके उसके बाद इस कूड़े को वॉयोमेडिकल वेस्ट के साथ डिस्पोज़ किया जा रहा है। यह कूड़ा शिमला में 2 दिन बाद ही उठ रहा  है। एमसी प्रशासन ने सभी  गारबेज कलेक्टर को कोरोना वायरस से बचने के लिए स्पेशल किट्स दी हैं। उसके बाद ही वार्डो में कर्मचारी कूड़ा उठाने के लिए जा रहे हैं। अब तक नगर निगम ने बाहर से आए करीब 500 से अधिक लोगों को क्वारंटीन में रखा है। वहीं, वार्ड पार्षदों को भी खास तौर पर निर्देश जारी किए गए हैं कि अगर कोई व्यक्ति बिना बताए आए तो उसकी जानकारी तुरंत पुलिस को दें। इसके साथ ही मकानमालिक को भी एमसी को इस बारे में सूचना देनी होगी। नगर निगम शिमला कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लगातार प्रयासरत है। इसी बीच निगम ने शिमला शहर में कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए इससे बचाव के लिए शहर भर में सेनेटाइजर के साथ-साथ नॉट टच के पोस्टर भी लगाए गए हैं। इन पोस्टरों के माध्यम से निगम ने साफ किया है कि सार्वजनिक स्थानों में लगे बेंच को व्यर्थ में न छूएं।