Wednesday, August 21, 2019 05:05 AM

खंभे पर करंट से झुलसा लाइनमैन

हड़ेटा सेक्शन में विद्युत बोर्ड की लापरवाही से पेश आया बड़ा हादसा, हमीरपुर मेडिकल कालेज में भर्ती

हमीरपुर -विद्युत उपमंडल गलोड़ के तहत पड़ते सेक्शन हड़ेटा में विद्युत बोर्ड की कथित लापरवाही से सोमवार को खंभे पर चढ़ा एक लाइनमैन झुलस गया। लाइनमैन को करंट का झटका इतनी जोर से लगा कि उसके कपड़े तक जल गए और वह खंभे से नीचे जा गिरा। गंभीर हालत में लाइनमैन को मेडिकल कालेज हमीरपुर लाया गया। करंट से बुरी तरह झुलसे लाइनमैन का एक टेस्ट हमीरपुर मेडिकल कालेज में नहीं हो पाया। जिसके चलते अब यह टेस्ट मेडिकल कालेज टांडा में होगा। बताया जा रहा है कि यह टेस्ट करवाना अनिवार्य है। इसमें इंफेक्शन के स्तर का पता चल जाता है। फिलहाल बिजली बोर्ड की लापरवाही से एक कर्मचारी की जान जोखिम में पड़ गई। गनीमत रही कि हादसे में जानी नुकसान नहीं हुआ। जानकारी के अनुसार विद्युत सेक्शन हड़ेटा में फोर पोल स्ट्रक्चर की मरम्मत की जा रही थी। इनमें से तीन खंभों की बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई थी, लेकिन चौथी लाइन से बिजली आपूर्ति सुचारू रूप से चल रही थी। विभाग की लापरवाही तो देखिए, अगर काम करवाना ही था तो चौथी लाइन को भी बंद कर देते। आखिरकार क्यों जानबूझकर कर्मचारियों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। कार्य संपन्न होने के बाद बिजली आपूर्ति बहाल की जा सकती थी। विभाग की यह लापरवाही एक लाइनमैन पर भारी पड़ गई। करंट का जोरदार झटका लगते ही लाइनमैन की बाजू सहित शरीर का अन्य हिस्सा झुलस गया। यहां तक की पहनी हुई टी-शर्ट को भी आग लग गई। हादसे के समय मौजूद कर्मचारियों के होश उड़ गए। इसके बाद संबंधित कनिष्ठ अभियंता सहित एसडीओ बिजली बोर्ड भी मौके पर पहुंच गए। बताया जा रहा है कि यहां पर चार से पांच विभागीय कर्मचारी मौजूद थे। लाइनमैन काम करने के लिए पोल पर चढ़ गया, जबकि अन्य नीचे ही कार्य कर रहे थे। विभागीय अधिकारियों की माने तो लाइनमैन गलती से संचालित विद्युत सप्लाई को छू गया। इस कारण करंट की चपेट में आकर व सीधा नीचे जा गिरा। हालांकि पहलू इसके विपरीत भी हो सकता है। फिलहाल विभाग इसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना करार दे रहा है। बता दें कि इससे पहले भोरंज उपमंडल में भी ऐसा ही हादसा पेश आया था। इसमें एक कर्मचारी की मौके पर ही मौत हो गई थी तथा दूसरे की बाजू कट गई थी। घटनाओं से सबक लेने की बजाय विभाग अपने कर्मचारियों के जीवन को संकट में डाल रहा है।