Saturday, July 04, 2020 04:44 PM

खतरा बने पेड़ों को काटा

कुल्लू -जिला मुख्यालय कुल्लू स्थित नगर परिषद कुल्लू के वार्ड नंबर आठ में मुख्य सड़क मार्ग के ऊपर खतरा बने पेड़  को हटाने का कार्य शुरू कर दिया है। रविवार को एक पेड़ पापूलर का काटा गया, जबकि एक और पेड़ कटा जाना है। क्योंकि काफी लंबे समय से लोगों ने मांग की थी कि यह पेड़ कभी भी वाहनों और पैदल चलने वाले लोगों के लिए तेज हवाओं के दौरान खतरा हो सकते थे। ऐसे में नगर परिषद कुल्लू ने बाकायदा प्रशासन और संबंधित विभाग से इन पेड़ों को हटाने की अनुमति ली। अनुमति मिलने के बाद नगर परिषद कुल्लू ने टेंडर करवाया। इसके बाद लोगों को खतरा बने पेड़ों को काटने का कार्य आरंभ कर लिया है। रविवार को एक पेड़ की लापिंग कार्य किया गया।  इस दौरान वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि भुट्टी चौक में दो पेड़ खतरा बने हुए थे। क्योंकि यहां लगघाटी का चौक भी है और काफी संख्या में लोगों की भीड़ रहती है। उन्होंने कहा कि रविवार को ढालपुर में तूफान से हुए नुकसान का जायजा भी लिया गया। नगर परिषद कुल्लू के वार्ड नंबर आठ के पार्षद तरुण बिमल ने बताया कि भुट्टी चौक में दो सफेदे के पेड़े डेंजर कैटेगरी में डाले गए हैं। ऐसे में इनको हटाया जा रहा है। शनिवार को तेज तूफान  से क्षेत्र में कच्चे पेड़ों की टहनियां गिरने से भारी नुकसान हुआ है, जिससे बिजली के पोल गिर चुके हैं। यह पेड़ भी खतरा बन सकते थे। इनमें एक रविवार को काटा गया है।