Wednesday, August 21, 2019 04:03 AM

खीरगंगा में श्रद्धालुओं संग लगाई डुबकी

देवता कशु नारायण ने किया शाही स्नान, धर्मस्थल में फैली अव्यवस्था देख हुए खिन्न

सैंज -सैंज घाटी के आराध्य देवता भगवान कशु नारायण ने पुराने नीति नियमों के अनुसार अपने पांच हजार श्रद्धालुओं के साथ खीरगंगा तीर्थ स्थल में शाही स्नान किया। इस शाही स्नान में कशु नारायण के समस्त हारियानों के साथ पार्वती घाटी व देश विदेश के लगभग पांच हजार लोगों ने शाही स्नान में हिस्सा लिया। ज्ञात रहे कि भगवन कशु नारायण श्रावण माह के तीन प्रविष्टे को लाव लश्कर के साथ अपनी तीर्थ यात्रा खीरगंगा के लिए निकले थे। इस तीर्थ यात्रा के दौरान रूपी घाटी के विभिन गांवों  शैंशर, रैला, भलांन, गड़सा, हुरला, भुंतर, जरी, सुमा रोपा, मणिकर्ण, वशैणीष नकथान, रुद्रनाग होकर खीरगंगा पहुंचे। खीरगंगा पहुंच कर अपनी गुरबाणी के माध्यम से नारायण ने खीरगंगा में फैल रही अव्यवस्था के कारण अपने लगभग आठ बीघा के क्षेत्र में रेखा खींचते हुए चेतावनी दी है यह एक पवित्र स्थान है।  यहां पर मादक पदार्थ लाना वर्जित है अन्यथा भविष्य में बड़ी हानि उठानी पड़ सकती है। इस मौके पर अठारह करडू के कारदार दानवेंद्र सिंह भी उपस्थित रहे। भगवान कशु नारायण के पुजारी मनीष शर्मा, गूर संजू कारदार, मोहन लाल धामी,  सुरु मनी राम, लच्छमण,  मढारी ज्ञानचंद, हीरालाल इत्यादि कारकूनों का कहना है कि यह शाही स्नान आज से साठ वर्षों पहले हुआ था, जिसके गवाह आज भी वशैणी गांव के कुछ बुजुर्ग है। कारदार मोहन लाल ने बताया है कि इस यात्रा का प्रस्थान सैंज घाटी के बनाऊंगी  गांव से एक माह पहले हुआ था। अभी एक सप्ताह से ज्यादा का समय बनाऊंगी पहंुचने में लगेगा, उसके बाद बनाऊंगी तपोभूमि पर धाम का आयोजन होगा।