Monday, February 17, 2020 06:49 AM

खुंब उत्पादन पर मिलेगी सबसिडी

सरकार ने बागबानों के लिए लांच की योजना, पांच दिन की ट्रेनिंग देगा विभाग

ऊना -ऊना जिला के बागबानों के लिए सरकार ने हिमाचल खुंभ विकास योजना लांच की है। इस व्यवसाय को स्वरोजगार के तौर पर अपनाकर बागबान घर बैठे ही खुंभ का बेहतर उत्पादन करके मुनाफा कमा सकता है। सरकार की ओर से बागबानों को स्माल व लॉरज स्केल मशरूम हाउस लगाने की योजनाएं शुरू की है। स्माल स्केल मशरुम हाउस लगाने के लिए बागबान को 20 बाई 12 फुट क्षेत्र का हाउस निर्माण करना होगा। इसमें मशरूम के 400 बैग रखे जा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत एक लाख रुपए का खर्च आएगा, जिसमें सरकार की और से किसान को 50 फीसदी अनुदान दिया जाएगा। इसमें बागबान ने मात्र 50 हजार रुपए की खर्च करने है। लॉरज स्केल मशरूम हाउस भी जिला में कोई भी बागबान लगा सकता है। जिसका खर्चा 20 लाख रुपए आएगा। इस प्रोजेक्ट को लगाने वाले बागबान को सरकार की और से आठ लाख का अनुदान दिया जाएगा। वहीं, मशरूम के तापमान को नियंत्रित रखने के लिए अगर कोई बागबान इंसूलेशन लगाता है तो ऐसे बागबान को भी अनुदान का प्रावधान है। सरकार द्वारा स्वीकृति मिलने के बाद इस योजना को ऊना जिला में शुरू किया जा रहा है। बागबानी विभाग की और से मशरूम में स्वरोजगार करने वालों को जोड़ने के लिए गाइडलाइन को तमाम खंड व बागबानी केंद्रों में दे दिया गया है। कोई भी बागबान इस योजना का लाभ उठाने के लिए खंड बागबानी केंद्रों में आ सकता है। मशरुम लगाने वाले को विभाग की ओर से पांच दिन की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। वहीं, प्रगतिशील बागबानों का राष्ट्रीय स्तर पर भ्रमण भी करवाया जाएगा। बागबानी विभाग के विषयवाद विशेषज्ञ ऊना डा. केके भारद्वाज ने बताया कि सरकार की और से ऊना में हिमाचल खुंभ विकास योजना शुरू की गई है। उधर, बागबानी विभाग ऊना के उपनिदेशक डा. सुभाष चंद ने बताया कि  मशरुम की व्यवसाय करके बागबान बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं और सरकार की योजना का लाभ उठा सकते हैं।