Monday, December 16, 2019 05:55 AM

खैरी में कुपोषण सेे बचने को जगाए बच्चे

चंबा -आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा मंगलवार को चमेरा-एक के केंद्रीय विद्यालय खैरी में एक विशेष शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कंचन कुमारी और रेणु ने विद्यार्थियों को पोषण संबंधी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यदि व्यक्ति को उसकी शारीरिक आवश्यकता के अनुसार उपयुक्त मात्रा में सभी तत्त्व नहीं मिलते हैं, तो उसके कारण शरीर की वृद्धि, विकास तथा क्रियाशीलता पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है, जिसे कुपोषण कहा जाता है। सही पोषण न मिलने से रक्तहीनता, कमजोरी, थकान, मांसपेशियों का ढीला होना व घेंघा रोग हो सकता है। पर्याप्त व संतुलित आहार ही कुपोषण से बचने का एकमात्र इलाज है। महिलाओं, बच्चों व बीमार लोगों को विशेषकर सही पोषण की जानकारी व कुपोषण के दुष्प्रभाव का पता होना अति आवश्यक है। तदोपरांत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने विद्यार्थियों को एनएचपीसी के अस्पताल में ले जाकर किशोरियों की हिमोग्लोबिन की जांच भी करवाई। इस दौरान अध्यापक सुलेख चंद व कुलदीप कुमार सहित चमेरा परियोजना मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अजय, डा. ईभा, लैब तकनीशियन राजेश गौतम व रवि ठाकुर भी मौजूद रहे।