Tuesday, October 15, 2019 09:45 AM

ख्योड़ में ‘बोतल रह गई ठेके’

ख्योड़ नलवाड़ मेले की दूसरी सांस्कृतिक संध्या में चिंता ठाकुर-रमेश ठाकुर ने नचाए दर्शक

गोहर -गोहर क्षेत्र के ऐतिहासिक एवं प्रसिद्व जिला स्तरीय नलवाड़ मेले ख्योड़ की दूसरी सांस्कृतिक संध्या बालीचौकी की महिला कलाकार चिंता ठाकुर व कुल्लू जिला के स्टार कलाकार रमेश ठाकुर के नाम रही। उन्होंने दूसरी सांस्कृतिक संध्या के अतिंम दौर में प्रदेश व हर जिला के मशहूर गानों व नाटियों की दमदार प्रस्तुतियां पेश करके पंडाल में मौजूद दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया, जिसे दर्शकों ने बेहद सराहा। नान स्टाप कार्यक्रम के दौरान दर्शक कलाकारों के संग पंडाल में झूमते देखे गए। कार्यक्रम की शुरुआत परंपरा के अनुसार प्रदेश के मशहूर शहनाई वादक सूर्जमणि ने की। उसके बाद राकेश कुमार गुलाड, उमेश कुमार थुनाग, चंद्रेश कुमार, सुभाष राणा जोगेंद्रनगर, ललित कुमार शाला सहित अंशुल शर्मा बटेहड़ा ने भी अपने कार्यक्रम पेश किए। प्रतिदिन की भांति दूसरी सांस्कृतिक संध्या में भी मंच संचालन का जिमा संभाले सहायक लोक संपर्क अधिकारी कुलदीप गुलेरिया ने भी बीच-बीच में दर्शकांे का भरपूर मनोरंजन करके खूब वाहवाही लूटी। सांस्कृतिक संध्या के अतिंम दौर में करीब आठ बजे बालीचौकी की महिला कलाकार चिंता ठाकुर ने जैसे ही मंच पर दस्तक दी तो पंडाल में मौजूद तमाम दर्शकों उनका तालियों व सीटियों के साथ जोरदार स्वागत किया। उन्होंने अपने कार्यक्रम की शुरुआत ‘बुरा नी मनाणा मेरी सासू रा’ के साथ की। उसके बाद उन्होंने ‘दमादम मस्त कलंदर’, ग्राएं देया लबंड़ा हो,  लच्छी-लच्छी लोक गलादें,  बोतल रह गई ठेके गीतों की झड़ी लगाकर दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। कई दर्शकों ने कलाकार गीता भारद्वाज की दमदार प्रस्तुतियों को लेकर उन्हें इनाम स्वरूप नकदी दी। ख्योड़ नलवाड़ मेले की दूसरी सांस्कृतिक संध्या में के अंतिम दौर करीब नौ बजे स्टार कलाकार रमेश ठाकुर ने अपने कार्यक्रम की शुरुआत  दुई टांकी तोषा, दुई टांकी दयार,  गंगे रामा मुनशिया से की। उसके बाद उन्होंने  ओ रीनू, ओ रीनू, ओ रीनू तेरी चिट्ठी पतरी आई न, ईक परदेशी मेरा दिल ले गया सहित पहाड़ी नाटियों की खूब झड़ी लगाई।

एक्सईएन पीडब्ल्यूडी ने बतौर चीफ गेस्ट की शिरकत

ख्योड़ नलवाड़ मेले की दूसरी सांस्कृतिक संध्या में पीडब्ल्यूडी के गोहर स्थित एक्सईएन रमेश सिंह खालसा बतौर मुख्यातिथि के रूप में मौजूद थे। रात करीब आठ बजे एसडीओ पीडब्ल्यूडी गोहर चमन लाल ठाकुर संग जैसे ही वह मेला परिसर में पहंुचे तो वहां मौजूद स्थानीय पंचायत की प्रधान श्रीमति कमला शर्मा, उपप्रधान उमेश कुमार शर्मा व उनके सहयोगियों ने उनका स्वागत किया। इसके बाद पंरपरा के अनुसार प्रधान कमला शर्मा ने मुख्यातिथि को हिमाचली शाल व समृति चिन्ह से सम्मानित किया।