Sunday, November 17, 2019 03:36 PM

गगरेट में मौत के सामान के साथ एक धरा

पुलिस ने 42.84 ग्राम चरस और 310 नशीली गोलियां पकड़ीं; खाकी को मिली बड़ी कामयाबी, शहर में नशे का कारोबार जोरों पर

गगरेट -नशा माफिया की हिमाकत तो देखिए कि अब फेरी वाले की तरह नशा माफिया भी डोर-टू-डोर नशे की सप्लाई करने लगा है। गगरेट पुलिस ने बुधवार को औद्योगिक क्षेत्र गगरेट में नशे का सामान लेकर ग्राहक ढूंढ रहे पंजाब के एक युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसके पास से 42.84 ग्राम चरस व नशे के लिए प्रयोग की जाने वाली प्रतिबंधित दवा ट्रॉमाडोल की तीन सौ दस गोलियां बरामद की है। गगरेट पुलिस ने युवक के विरुद्ध मादक द्रव्य पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। गगरेट पुलिस को सूचना मिली थी कि औद्योगिक क्षेत्र गगरेट में एक युवक नशे की खेप के साथ आता है और यहां औद्योगिक इकाईयों में कार्यरत कामगारों को अपने चंगुल में फंसा कर नशे का सामान बेचता है। इस सूचना के आधार पर पुलिस पिछले कई दिनों से उक्त युवक की तलाश में थी। बुधवार को पुलिस को पुख्ता सूचना मिली कि उक्त युवक फिर से औद्योगिक क्षेत्र में दस्तक देने वाला है। सूचना के आधार पर एएसआई प्रदीप कुमार की अगवाई में पुलिस की टीम ने औद्योगिक क्षेत्र में दबिश दी और उक्त युवक को रंगे हाथ दबोच लिया। युवक की तलाशी लेने पर उसके पास से 42.84 ग्राम चरस व तीन सौ दस ट्रॉमाडोल की गोलियां बरामद हुई। आरोपी की शिनाख्त अजय कुमार निवासी मोहल्ला नीलकंठ होशियारपुर (पंजाब) के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि अपने इस धंधे को अंजाम देने के लिए अजय कुमार ने मैड़ी गांव में किराए पर कमरा ले रखा है और वहीं से वह इस धंधे को अंजाम दे रहा है। नशा बेचने के अलावा वह कोई काम धंधा नहीं करता। डोर-टू-डोर नशा सप्लाई करने के इस मामले के उजागर होने से पुलिस प्रशासन के भी कान खड़े हो गए हैं। जाहिर है कि चरस व नशे के लिए प्रयोग की जाने वाली प्रतिबंधित दवाएं चिट्टे जैसे घातक नशे से काफी सस्ती मिल जाती हैं। यही वजह है कि इस धंधे को अंजाम देने वाले निचले तबके के लोगों को इस नशे पर लगा रहे हैं, ताकि आराम से उनका धंधा फलता-फूलता रहे। उधर, डीएसपी मनोज जम्वाल का कहना है पुलिस ने आरोपी युवक के विरुद्ध मादक द्रव्य पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने कहा कि आरोपी का पुलिस रिमांड हासिल करने का प्रयास किया जाएगा।