Tuesday, August 20, 2019 12:52 PM

गणेश…हनुमान की राखियों की बढ़ी डिमांड

जवाली -भाई-बहन के प्यार का प्रतीक रक्षाबंधन पर्व को लेकर जवाली के बाजार सज चुके हैं। जवाली के बाजारों में पांच से लेकर 100 रुपए तक की रंग-बिरंगी रेशमी धागे से निर्मित डोरियां तथा दस से लेकर 500 रुपए तक की रंग-बिरंगी राखियां पहुंच चुकी हैं।  रुद्राक्ष वाली राखियां महिलाओं की पसंद बन रही हैं। गणेश, हनुमान तथा छोटा भीम की प्रतिमा वाली राखियां बच्चों को खूब पसंद आ रही हैं। इसी के साथ बच्चों की राखियों में ट्यून भी आकर्षण का प्रतीक हैं व बाजारों में काफी रौनक दिख रही है। बाजारों में सुबह से लेकर शाम तक तिल धरने को जगह नहीं मिल रही है। काफी दिनों से छाई हुई विरानी दूर हो गई है। मिठाई की दुकानों में भी काफी भीड़ दिख रही है तथा दुकानदार मिठाई को डिब्बों सहित तोल कर खुद तो चांदी कूट रहे हैं, जबकि लोगों को चूना लग रहा है। बहनों में इस त्योहार को लेकर काफी क्रेज होता है। महिला संतोष कुमारी ने बताया कि राखी भाई-बहन के प्यार का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि वह अपने भाइयों की कलाई पर रेशमी डोरी ही बांधेगी। छोटी बच्ची शबनम, कनिष्का व तनीषा ने तो हनुमान, गणेश व छोटा भीम की प्रतिमा वाली राखी भाई की कलाई पर बांधने के लिए खरीदी। दुकानदार रमेश कुमार ने बताया कि इस बार राखी का सीजन अच्छा है तथा राखियां हाथों हाथ बिक रही हैं।