Friday, December 13, 2019 07:15 PM

गागल का दंपति करेगा देहदान

मेडिकल कालेज नेरचौक में डा. चमन शर्मा-कृष्णा शर्मा ने पूरी की पंजीकरण की औपचारिकताएं

मंडी -मंडी जिला की बल्ह घाटी के गांव गागल के दंपति ने एक अनूठी मिसाल पेश करते हुए मौत के बाद अपनी देह का दान करने के लिए श्री लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कालेज नेरचौक मंडी में पंजीकरण करवाया है। आयुर्वेदिक अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त हुए डा. चमन लाल शर्मा (70) व उनकी पत्नी कृष्णा शर्मा (63) जो शास्त्री अध्यापिका के पद से सेवानिवृत हैं, ने एक साथ यह पंजीकरण करवाया है, ताकि निधन के बाद उनकी देह मेडिकल कालेज के विद्यार्थियों के शोध कार्य के लिए प्रयोग में आ सके। किसी दंपति द्वारा एक साथ इस तरह से देहदान करने का यह अपनी तरह का पहला मामला इस क्षेत्र का है, जिसकी खूब चर्चा व प्रशंसा भी हो रही है। डा. चमन लाल शर्मा व कृष्णा शर्मा ने अपने परिजनों से यह बात भी स्पष्ट कर दी कि उनके निधन के बाद कोई शोक सभा नहीं होगी, रोना धोना, कर्मकांड, संस्कार भी नहीं होंगे, न ही कोई मृत्यु भोज होगा। परिजन, मित्र व शुभचिंतक केवल प्रभु स्मरण करें। समाज सेवा में लगे रहने वाले इस दंपति का कहना है कि मानव देह यदि मरने के बाद काम आती है तो उनके लिए यही सबसे बड़ा धर्म व कर्मकांड है। इस दंपति का एक बेटा, एक बेटी हंै, जो विवाहित हैं। डा. चमन लाल शर्मा पांच भाइयों व दो बहनों में सबसे बड़े हैं व कृष्णा शर्मा का एक बड़ा भरा पूरा परिवार व सामाजिक दायरा है। इस दंपति के इस ऐलान की इलाके में खूब चर्चा है व इनके इस कदम की सराहना की जा रही है।