Friday, September 20, 2019 12:14 AM

गाडि़यों को भुगतने पड़ रहे भारी भरकम चालान

मेले के चलते ठियोग में बंद यातायात की समस्या, पुलिस के ट्रैफिक प्लान की भी निकली हवा

ठियोग -ठियोग में शुरू हुए ठियोग उत्सव के मेले को लेकर पिछले एकाध दिन से खरीददारों की काफी भीड़ बढ़ना शुरू हो गई है। ठियोग के पोटेटो ग्राउंड में स्टाल लगने शुरू हो गए हैं, लेकिन इसी बीच लोगों को ठियोग शहर में अपने वाहनों की पार्किंग को लेकर भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है पार्किंग के लिए जगह न मिलने के कारण लोग यहां-वहां वाहनों को पार्क कर रहे हैं और भारी भरकम चालान भी भुगतने पड़ रहे हैं। ऊपर से इस कारण पिछले कुछ दिनों से जाम की समस्या भी बढ़ती जा रही है। जिन गाडि़यों के चालान हो रहे हैं पुलिस वालों उसमें भी कोई चालान चिट नहीं लगा रहे मात्र वाहनों के नंबर नोट करके थाने में जाकर आराम से चालान काटे जा रहे हैं। इसी बात को लेकर कुछ दिन पहले ठियोग रेस्ट हाउस के पास एक पुलिस अधिकारी के साथ वाहन मालिकों की काफी गहमा-गहमी भी हुई थी इनका कहना भी सही था कि चालान होने पर कम से कम गाडि़यों में चालान चिट तो लगाए जाए, जिससे लोगों को पता चल सके कि पार्किग कहां पर है कहां नहीं। उधर, ठियोग के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा तैयार किया गया ट्रैफिक प्लान भी कुछ खास असर नहीं कर पाया है। शहर के लोगों को तो अभी तक इस बात का पता भी नहीं है कि पुलिस ने क्या नया ट्रैफिक प्लान तैयार किया है। इन दिनों सेब सीजन चरम पर है। उपर से पोटेटो ग्राऊंड में भी वाहनों को पार्क नहीं किया जा रहा है। जिससे लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। नगर में ट्रैफिक जाम व पुलिस प्रशासन द्वारा किए जाने वाले चालान से लोगों को जूझना पड़ रहा है। नगर परिषद ठियोग के वार्ड नंबर चार में 25 वाहनों के लिए पार्किंग बनाई है, जबकि इसके अलावा वार्ड नंबर सात में भी 50 वाहनों के लिए पार्किंग बन चुकी है। हालांकि दोनों पार्किंग का काम धन की कमी के कारण अधर में लटका हुआ है। दोनों निर्माणाधीन पार्किंग पर 50 लाख का खर्च आ चुका है, लेकिन दोनों में अभी एक भी गाड़ी को खड़ा करने की सुविधा नहीं है। ठियोग जिला के उपरी शिमला के प्रमुख द्वार है साथ ही राष्ट्रीय उच्च मार्ग-पांच के साथ सटा होने के कारण वाहनों की आवाजाही दिनभर चली रहती है। इसके अलावा कोटखाई रोहडू रामपुर चौपाल किन्नौर के लिए भी यहीं से होकर यातायात की आवाजाही होती है। दिन में यहां से करीब 700 से 800 वाहनों का आना-जाना रहता है। इससे पहले ठियोग के पोटेटो ग्राउंड में भी वाहनों को पार्क करने की वैकल्पिक व्यवस्था थी। नगर परिषद द्वारा भी ठियोग शहर में दो पार्किंग का निर्माण किया जा रहा है, लेकिन इनका भी काफी समय से काम अधूरा होने के कारण इससे लोगों को कोई सुविधा नहीं मिल पा रही है।