Tuesday, February 18, 2020 06:56 PM

गिरिपार में मनाया खोड़ा पर्व

माघी पर्व के आठ दिन बाद इस त्योहार को मनाने की परंपरा,क्षेत्र में अहम स्थान

नौहराधार -  सिरमौर जिला के गिरिपार क्षेत्रों के कई गांवों में खोड़ा पर्व बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। माघी पर्व के आठ दिन बाद इस त्योहार को मनाने की परंपरा काफी खास मानी जाती है। जहां माघी का पर्व ऐतिहासिक रूप से मनाया गया, वहीं मंगलवार रात व बुधवार दिन भर खोड़ा पर्व लोगों द्वारा बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस परंपरा को आज के आधुनिक समाज में भी अपने हाटी क्षेत्र की प्रथा के रूप में विशेष पहचान कायम किए हुए है। इस परंपरा को ताजगी के साथ जिंदा रखने में इस पंचायत के बुद्धिजीवी, वरिष्ठ नागरिकों तथा नौजवानों के साथ-साथ पूरे क्षेत्र के नाटी जिसे स्थानीय बोली में गी कहा जाता है में रुचि रखने वाले कलाकारों का भी भरपूर योगदान है। इस अवसर पर स्थानीय कलाकारों ने एक से बढ़कर एक पारंपरिक गीतों को गाकर मेहमानों का जमकर मनोरंजन किया। इस खोड़े पर जहां लोग नाटी का आनंद लेते हैं, वहीं दूसरी ओर रिश्तेदारों का भी मेहमाननबाजी के रूप तांता लगता है। इस मौके पर सिरमौरी व्यंजनों की भी खासी धूम रही। खोड़े पर असकली, पटांडे, खोबे, खिंडा आदि से मेहमानों की खातिरदारी की गई, जिसका मेहमानों ने जमकर लुत्फ उठाया।