Monday, September 16, 2019 07:38 PM

गैहरा स्कूल की दीवारों में आई दरारें

  पटड़ीघाट -उपमंडल  सरकाघाट के  राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गैहरा के स्कूल भवन में भारी बारिश के कारण दरारें पड़ गई हैं। इससे स्कूल के आठ कमरों के भवन के अस्तित्व को खतरा बढ़ गया है।  कभी भी स्कूल का भवन धराशायी हो सकता है। वर्ष 2016 में स्कूल के प्रांगण से ल्हासा गिरने से भी यही हालत बन गई थी और पंचायत प्रधान विकास वर्मा की अगवाई में एक प्रतिनिधिमंडल तत्कालीन मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को मंडी के सर्किट हाउस में मिला था। मुख्यमंत्री ने तत्काल प्रभाव से लोक निर्माण विभाग मंडल सरकाघाट को  लगभग  15  लाख रुपए की राशि जारी कर रिटेनिंग वाल लगाने के आदेश दिए थे। पंचायत और ग्रामीणों ने अथक प्रयास करते हुए लोकनिर्माण विभाग से स्कूल की दीवार को पूरा करने की गुहार लगाई, लेकिन उनकी किसी ने भी नहीं सुनीं और इस वर्ष की बरसात में दीवार पूरी न होने से एक और ल्हासा गिर गया तथा आठ कमरों के दो मंजिला भवन में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गईं। इस प्रकार स्कूल में शिक्षा ग्रहण कर रहे 150 के करीब छात्रों की पढ़ाई पूरी करने में भी बाधा उत्पन्न हो गई है। सुबह जब स्कूल में अध्यापक और छात्र पहंुचे, तो उन्होंने स्कूल की दशा बारे प्रधानाचार्य सोहन लाल ने शिक्षा उपनिदेशक उच्च शिक्षा अशोक शर्मा और एसडीएम सरकाघाट बालकृष्ण चौधरी को सारी स्थिति से अवगत करवाया। एसडीएम तत्काल प्रभाव से दलबल सहित राजस्व विभाग और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ स्कूल पहंुचे और छात्रों को छुट्टी दे दी। एसडीएम ने लोकनिर्माण विभाग को तत्काल रूप से स्कूल भवन के लिए वैकल्पिक पक्की जमीन तलाशने के आदेश दिए। इस बारे मेंे उपनिदेशक उच्च शिक्षा अशोक शर्मा ने बताया कि उन्होंने सारे जिला के स्लाइडिंग वाले स्कूलों में भारी बारिश के कारण बंद  रहेंगे।  यह भी बताया कि वह शीघ्र ही गैहरा स्कूल का दौरा कर मामले में उचित कदम उठाएंगे। स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष  सुनील ठाकुर ने बताया कि वह स्कूल के छात्रों के लिए ग्रामीणों की सहायता से कमरों का प्रबंध करने के लिए प्रयासरत हैं।