Monday, September 16, 2019 07:58 AM

गोशाला ढहने से मलबे में दबी 15 भेड़-बकरियां

चुवाडी, सिहुंता -भटियात उपमंडल में बरसात की बेरहम बारिश ने कहर बरपा कर रख दिया है। बारिश के कारण उपमंडल के तमाम नालें व खड्डें उफान पर आ गई हैं। उपमंडल की चक्की खड्ड के रौद्र रूप ने लोगों को डरा कर रख दिया है। बारिश के कारण जगह- जगह भू-स्ख्लन होने से उपमंडल के मुख्य सहित संपर्क मार्गों पर वाहनों की आवाजाही ठप होकर रह गई है। बारिश ने उपमंडल में आम जनजीवन की रफ्तार पर पूरी तरह ब्रेक लगा दी है। बारिश के कारण उपमंडल की सुरपडा पंचायत के नलाटू गांव में फौजा सिंह की गोशाला ढहने से पंद्रह भेड़-बकरियां जिंदा दफन हो गई है। कथेट पंचायत की प्राथमिक पाठशाला गोधरा के दो कमरे भू-स्ख्लन की जद में आकर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। गनीमत यह रही कि घटना अल सवेरे घटित हुई। अन्यथा स्कूल टाइम में घटना होने से जान व माल के नुकसान की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता था। परछोड के सीनियर सेकेंडरी स्कूल की बाउंडरी बाल भू-स्ख्लन की जद में आकर जमीेंदोज हो गई है। बारिश के कारण चक्की खड्ड का बहाव बढ़ने से फिन्ना प्रोजेक्ट की कुछ मशीनरी भी बह गई है। उपमंडल के लाहडू- ककीरा- तुुनुहट्टी मार्ग पर बैरियांगला के समीप पहाड़ी धंसने का क्रम जारी है। सिहंुता- चुवाड़ी मार्ग को भी बारिश के कारण काफी नुकसान हुआ है। बारिश का दौर लगातार जारी रहने से लड़खड़ाई व्यवस्था को पटरी पर लाना अभी तक चुनौती बना हुआ है।  सिहुंता के तहसीलदार  डा. मुकुल किशोर शर्मा, ने बताया कि सुरपडा पंचायत में गोशाला ढहने से पंद्रह भेड- बकरियों के जिंदा दफन होने ीक सूचना के बाद हल्का पटवारी को मौके पर जाने के निर्देश दे दिए गए हैं। हल्का पटवारी की रिपोर्ट के आधार पर प्रभावित को राहत राशि प्रदान की जाएगी।