Thursday, August 22, 2019 04:53 PM

चंडीगढ़ में पांच हजार करोड़ के 25 एमओयू

रोड शो के दौरान मुख्यमंत्री ने हिमाचल के लिए खींचा निवेश, अब तक 35,231 करोड़ के समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित

चंडीगढ़ में निवेशकों के साथ मुख्यमंत्री

शिमला -

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की मौजूदगी में मंगलवार को चंडीगढ़ में रोड शो के दौरान हिमाचल ने पांच हजार करोड़ के 25 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए। इस साल नवंबर में आयोजित की जाने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर मीट से पहले राज्य सरकार अभी तक 35,231 करोड़ की निवेश क्षमता के 297 समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित कर चुकी है। सीएम ने मंगलवार को सिंगला बिल्डर्स एंड प्रोमोटर्स के निदेशक अमन सिंगला से भेंट की, जिन्होंने रियल ईस्टेट तथा रिजॉट में लगभग 300 करोड़ से लेकर 500 करोड़ रुपए तक के निवेश की इच्छा व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कपड़ा उद्योग इकाइयों को स्थापित करने में रूचि दिखाने वाले ट्राईडेंट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अभिषेक गुप्ता के साथ भी बातचीत की। उन्होंने शिमला के सुन्नी क्षेत्र में सीमेंट प्लांट स्थापित करने में रुचि दिखाने वाले डालमिया ग्रुप के कार्यकारी निदेशक हरजीत सिंह से भी बैठक की और प्लांट के लिए 2500 करोड़ का समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया। इसी तरह  पर्यटन क्षेत्र में लगभग 100 करोड़ लगाने वाले जय डायमंड प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष हुकम चंद के साथ बातचीत की। बद्दी में फार्मा प्लांट स्थापित करने के लिए राज्य सरकार और ऐश्वर्या लाइफ साइंसेज के नीरज कुमार के बीच 100 करोड़ का समझौता किया गया। प्रदेश में 300 करोड़  से 15 मेगावाट का पावर प्लांट स्थापित करने के लिए सूनोमैटिक पावर प्रा. लिमिटेड के दीपक सैणी के साथ भी बातचीत हुई।  सीएम की रियल ईस्टेट में 200 करोड़ से लेकर 300 करोड़  का निवेश करने के इच्छुक होम एंड लैंड प्लानर के निदेशक अमनदीप सिंह गिल से भी बातचीत हुई। इसके अलावा पांच सितारा होटल खोलने के लिए एएचजी होटल मालिक केसी ग्रुप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विकास शर्मा के साथ बातचीत हुई। सीएम ने कसौली में 530 करोड़ से फाइव स्टार होटल एवं वरिष्ठ नागरिकों के लिए 100 बिस्तर वाले अस्पताल के लिए समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया। उद्योग विक्रम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में निवेशकों की सुविधा के लिए निवेश प्रोत्साहन और सुविधा केंद्र स्थापित किया गया है, ताकि उन्हें मौके पर ही हर प्रकार की सुविधा प्रदान की जा सके। मुख्य सचिव बीके अग्रवा, अतिरिक्त मुख्य सचिव डा. श्रीकांत बाल्दी और राम सुभग सिंह ने इस दौरान हिमाचल के बारे में जानकारी दी। अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज कुमार ने भी प्रदेश में निवेश की अपार संभावनाओं पर प्रस्तुतिकरण दिया।

इन्होंने भी जताई निवेश की इच्छा

सोलन में वर्तमान रिजॉर्ट के विस्तार के लिए मैसर्ज फोरेस्ट हिल रिजॉर्ट के साथ 20 करोड़, एचआरडी एग्रो लिमिटेड के साथ 25 करोड़ , मैसर्ज न्यूजन स्टार्च के साथ 47.72 करोड़, पांवटा साहिब में कोटिंग रेडी मिक्स इकाई स्थापित करने के लिए फार्मा फोरस लैब यूनिट के साथ 6.33 करोड़ तथा वाटर पार्क स्थापित करने के लिए रॉक एन रॉल थीम पार्क के साथ 16.53 करोड़ के समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षरित किए गए। कालाअम्ब में ग्लास टयूब प्लांट स्थापित करने के लिए स्कोट कैशा के साथ 15 करोड़, जबकि राजश्री फैब्रिक के साथ 11.78 करोड़ रुपए के समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

शिक्षा विभाग ने साइन किए दो एमओयू

शिमला— ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के अंतर्गत शिक्षा विभाग ने मंगलवार को दो समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए। यह समझौता ज्ञापन शिक्षा विभाग ने कांगड़ा की केसीएस ऐजुकेशन सोसायटी और हमीरपुर की हिम अकादमी के साथ शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज की उपस्थिति में हस्ताक्षरित किए, जिसके अंतर्गत कांगड़ा और हमीरपुर जिलों में स्कूल स्थापित किए जाएंगे। केसीएस ऐजुकेशन सोसायटी कांगड़ा जिला के लदरौर में 15 करोड़ रुपए का निवेश कर स्कूल की स्थापना करेगी, जबकि हिम अकादमी हमीरपुर 50 करोड़ रुपए का निवेश कर रक्कड़ में स्कूल की स्थापना करेगी। उन्होंने कहा कि अभी तक राज्य में शिक्षा के क्षेत्र में लगभग 500 करोड़ रुपए के कुल निवेश के आठ समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किए गए हैं।

चालीस दिन के लिए धर्मशाला पुलिस ग्राउंड बुक

आठ और नौ नवंबर को प्रस्तावित इन्वेस्टर मीट के लिए उद्योग विभाग ने किया हायर

शिमला - नवंबर में प्रस्तावित इन्वेस्टर मीट के लिए धर्मशाला पुलिस ग्राऊंड 40 दिन तक उद्योग विभाग ने बुक करवा दिया है। इस मेगा इवेंट के लिए इवेंट पार्टनर आइस कंपनी को हिमाचल सरकार साढ़े छह करोड़ की राशि प्रदान करेगी। इसके तहत आठ और नौ नवंबर को दो दिन के इवेंट की मेजबानी नोएडा स्थित आईस कंपनी के कंधों पर रहेगी। राज्य सरकार से मिली हरी झंडी के बाद आईस कंपनी 10 अक्तूबर से धर्मशाला पुलिस ग्राउंड में तंबू गाड़ने शुरू कर देगी। इस आधार पर 20 नंबवर तक पुलिस मैदान इन्वेस्टर मीट के लिए बुक रहेगा। खास है कि इस आयोजन के लिए आईस कंपनी जर्मन हैंगर आयात कर रही है। वाटर प्रूफ इन हैंगर को स्थापित करने पर करीब तीन करोड़ खर्च आने की संभावना है। अधिकारिक सूत्रों का दावा है कि जर्मन हैंगर टांग देने के बाद धर्मशाला पुलिस मैदान कारपोरेट ऑफिस की सूरत में बदल जाएगा। इसके छत के नीचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए आलिशान लाऊंज बनाया जाएगा। इसके अलावा सीएम के लिए अलग से लाऊंज प्रस्तावित है। इसके अलावा मीडिया तथा वीवीआईपी के लिए अलग-अलग लाऊंज स्थापित किए जाएंगे। निवेशकों से एमओयू हस्ताक्षरित करने के लिए पांचवां लाऊंज बीटूजी स्थापित होगा। बहरहाल राज्य सरकार ने इवेंट पार्टनर के लिए आईस कंपनी को फाईनल करने की हरी झंडी प्रदान कर दी है। इसकी एवज में कंपनी को साढ़े छह करोड़ की भारी-भरकम राशि प्रदान की जाएगी। बेशक यह आयोजन दो दिन का होगा, लेकिन इसके प्रचार-प्रसार का जिम्मा भी आईस कंपनी पर निर्भर रहेगा। पार्टनर कंपनी को धर्मशाला शहर में एयरपोर्ट से लेकर सिटी तक जगह-जगह आलिशान हॉर्डिंग्स लगाने होंगे। इसके अलावा मेहमानों की कैटरिंग से लेकर तमाम इंतजामात आईस कंपनी को ही करने होंगे। यही कारण है कि हिमाचल सरकार के इस मेगा इवेंट की शानदार मेजबानी के लिए इस कंपनी का मैरिट के आधार पर चयन किया गया है। सूचना के अनुसार आईस कंपनी ने इससे पहले गुजरात तथा उत्तरांचल के इन्वेस्टर्स मीट आयोजित की हैं। इसके चलते हिमाचल सरकार ने आईस कंपनी को भारी-भरकम राशि देकर इन्वेस्टर्स मीट के मेगा इवेंट का पार्टनर बनाया है। जाहिर है कि इन्वेस्टर्स मीट आठ नवंबर से आरंभ होगी। हालांकि इसके लिए निवेशक दो दिन पहले पहुंचने शुरू हो जाएंगे। इसके अलावा राज्य सरकार के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी तथा अन्य अफसर नवंबर के शुरू में ही धर्मशाला में डेरा जमा देंगे।