Sunday, July 05, 2020 05:18 AM

चंबा में दो कोविड केयर सेंटर स्थापित

सेंटर में दवाइयां की उपलब्धता के साथ एंबुलेंस की भी सुविधा होगी

चंबा-कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के दौरान कोरोना संक्रमित मरीज के उपचार हेतु चंबा जिला में दो कोविड केयर सेंटर स्थापित किए गए हैं। इन कोविड केयर सेंटर में फिलहाल 55 बिस्तरों की क्षमता रखी गई है। इनमें एक सेंटर में 35 बिस्तरों की क्षमता बढाने का प्रावधान अलग से रखा गया है। इस सेंटर में दवाइयां की उपलब्धता के साथ ही एंबुलेंस की तैनाती भी सुनिश्चित की गई है। इन सेंटरों में बिना लक्ष्ण के मरीजों का उपचार किया जा रहा है। किसी मरीज में लक्ष्ण दिखने पर उपचार हेतु नागरिक अस्पताल डलहौजी को डीसीएचसी नोटिफाइड किया गया है। चंबा जिला के गंभीर रूप से संक्त्रमित मरीजों का धर्मशाला अस्पताल में उपचार के लिए सरकार की ओर से अधिकृत किया गया है। चंबा जिला में गत दो माह के दौरान कोरोना के सामने आए मामलों के चलते फिलहाल चंबा जिला में कोविड केयर सेंटर की संख्या पर्याप्त मानी जा सकती है। चंबा जिला में अब तक तेरह कोरोना संक्त्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। इनमें 11 मरीज उपचार के बाद स्वस्थ होकर घर भी वापिस लौट चुके हैं। अप्रैल माह के दौरान तीसा व सिहुंता में संक्त्रमित क्त्रमश चार व दो मरीजों का उपचार नेरचौक व टांडा मेडिकल कालेज में किया गया। मगर मई माह में सरकार की ओर से चंबा जिला में ही दो कोविड केयर सेंटर व डीसीएचसी नोटिफाइड कर दिया गया है। अब कोरोना पीडित के गंभीर रूप से बीमार होने के बाद धर्मशाला अस्पताल भेजा जाएगा। चंबा जिला में सरकार की ओर से शहर से करीब चार किलोमीटर दूर आयुर्वेदिक अस्पताल और ट्राइबल भवन बालू को कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। आयुर्वेदिक अस्पताल में बीस और ट्राइबल भवन में पैंतीस बिस्तरों की व्यवस्था है। ट्राइबल भवन में बिस्तरों की क्षमता 35 ओर बढ़ाने का प्रावधान अलग से किया गया है। इन सेंटरों में बिना लक्ष्ण वाले मरीजों का उपचार होगा।  वहीं,  उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीज के गंभीर रूप से बीमार होने वाले मरीज को उपचार के लिए धर्मशाला भेजा जाएगा।