Friday, December 06, 2019 09:56 PM

चामियां स्कूल में नवाजे होनहार

वार्षिक समारोह में सामाजिक न्याय मंत्री डा. राजीव सहजल ने छात्रों को किया सम्मानित

कसौली-सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सहकारिता मंत्री डा. राजीव सहजल ने छात्रों का आह्वान किया कि वे बुजुर्गांेअनुभवों से सीख लें क्योंकि वरिष्ठ जनों द्वारा जीवन से प्राप्त अनुभव युवाओं के भावी जीवन का सुदृढ़ आधार बन सकते हैं। डा. सहजल बुधवार को कसौली विधानसभा क्षेत्र के चामियां स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के वार्षिक समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे। डा. सहजल ने कहा कि वर्तमान समय की भागदौड़ और तनाव भरे जीवन में हम कहीं न कहीं अपने परिवार के बुजुर्गों से संवाद स्थापित करने से दूर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि इसका एक कारण हमारी जीवनशैली में परिवर्तन भी है। हम संयुक्त परिवार के स्थान पर एकल परिवार की ओर मुड़ गए हैं। इसके नकारात्मक प्रभाव अब दृष्टिगोचर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारे बुजुर्गों ने अपना जीवन अपने परिवार, समाज तथा राष्ट्र की बेहतरी में समर्पित किया है। सभी वरिष्ठ नागरिक अपने युवा काल में देशहित के कार्यों में संलग्न रहे हैं। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि अभिभावकों को भी नियमित तौर पर अपने बच्चों के साथ नियमित वार्तालाप करना चाहिए। डा. सहजल ने सभी छात्रों से आग्रह किया कि वे स्वच्छता के विषय में अपने परिजनों सहित अन्य को जागरूक बनाएं। उन्होंने कहा कि साफ  वातावरण स्वास्थ्य एवं विकास के लिए आवश्यक है। उन्होंने छात्रों से आग्रह किया कि वे पारिवारिक संस्कारों और नैतिक मूल्यों को जीवन में अपनाएं। डा. सहजल ने कहा कि प्रदेश सरकार सभी को गुणवत्तायुक्त शिक्षा प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है और इस दिशा में गत दो वर्षों में कार्यान्वित की जा रही योजनाओं के बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं।  उन्होंने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले स्कूली बच्चों को अपनी ऐच्छिक निधि से 11000 रुपए प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने मेधावी छात्रांे तथा सांस्कृतिक गतिविधियों में भाग लेने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया।  विद्यालय के प्रधानाचार्य पंकज बक्शी ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा विद्यालय का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। इस अवसर पर छात्र-छात्राओं द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया।