Tuesday, October 15, 2019 10:12 AM

चालान नो पार्किंग का…पर पार्किंग है कहां

 सोलन शहर में सड़क किनारे गाड़ी पार्क करना मजबूरी; पुलिस काट रही चालान, ड्राइवरों ने कसे तंज

सोलन -सोलन शहर में वाहन चालकों को पार्किंग की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध करवाने में स्थानीय प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है। वहीं, पुलिस प्रशासन वाहन चालकों के चालान काट कर उनकी मुश्किलें और बढ़ा रहा है। आलम यह है कि हजारों की तादाद में छोटे-बड़े वाहनों वाले शहर में पार्किंग मात्र सैकड़ों के लिए ही है। इस कारण वाहन चालकों को गाडि़यों को पार्क  करने के लिए यहां-वहां जगह ढूंढनी पड़ती है, जिससे उन्हें हर समय चालान होने का डर सताता रहता है। लोगों ने प्रशासन से मांग की है कि उन्हें पार्किंग के लिए उचित स्थान मुहैया कराया जाए। सोलन शहर में वाहन चालकों को पार्किंग के लिए उपयुक्त स्थान मिलना एक टेढ़ी खीर साबित होता जा रहा है। शहर व आसपास के क्षेत्रों में हजारों वाहन हैं। इसके अलावा जिला मुख्यालय होने के कारण जिला के विभिन्न क्षेत्रों से प्रतिदिन हजारों लोग अपने कार्यों के चलते और नौकरीपेशा लोग सोलन पहुंचते हैं। इनमें से अधिकतर लोग अपने निजी वाहनों से सोलन आते हैं, लेकिन यहां पहुंचने के बाद उन्हें अपने वाहनों को पार्क करने के लिए मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। उन्हें सोलन बाइपास, दोहरी दिवार, सुबाथू रोड व रबौण रोड पर सड़क किनारे वाहनों को पार्क कर अपने कार्यों के लिए जाना पड़ता है। परेशानी उस समय और बढ़ जाती है जब सड़क किनारे पार्क किए गए वाहनों का पुलिस कर्मी चालान काट देते हैं। सुबाथू के सुरेश कुमार, संजीव चौहान, आजाद कुमार, धर्मपुर के हेमंत व दीपक कुमार, कंडाघाट के लोकेश सिंह व राकेश आदि का कहना है कि वे सोलन अपने वाहनों से आते हैं, लेकिन यहां पहुंच कर पार्किंग की सुविधा न मिल पाने के कारण काफी परेशानी होती है। उन्होंने बताया कि विवश होकर उन्हें अपने वाहनों को दोहरी दिवार, बाइपास या फिर अन्य जगहों पर सड़क किनारे पार्क करना पड़ता है, लेकिन वहां हमेशा ही उन्हें चालान होने का डर सताता रहता है। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि पार्किंग की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध कराई जाए और तब तक शहर के बाहरी इलाकों में खड़े वाहनों के चालान काटने बंद किए जाएं।

पुराना बस स्टैंड में बनने वाली पार्किंग अधर में

शहर में बढ़ती वाहनों की संख्या को देखते हुए नप ने पुराना बस स्टैंड के समीप मल्टी स्टोरी पार्किंग बनाने का निर्णय लिया है, लेकिन यह प्रोजेक्ट काफी समय से आरंभ नहीं हो पाया है। वहीं, बाइपास पर स्थित पार्किंग का पुर्ननिर्माण कार्य जारी है और नप कार्यालय की पार्किंग, अस्पताल के समीप पार्किंग व पुराना उपायुक्त कार्यालय के समीप पार्किंग में 200 वाहन ही पार्क हो सकते हैं, लेकिन यह पार्किंग अधिकांश फुल रहती है।

गली-मोहल्लों में भी नहीं छोड़ी कोई जगह

सोलन में सड़कों पर तो अवैध पार्किंग का सिलसिला जारी है वहीं गली मोहल्लों में भी कोई ऐसी जगह नहीं बची है, जहां रास्ते के किनारे वाहन पार्क न किए हो। इसके चलते राहगीरों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।