Saturday, April 20, 2019 02:40 PM

चुनावों को हेलिकाप्टर से आएंगे कर्मी

केलांग—चुनाव ड्यूटी पर तैनात किए गए लाहुल-स्पीति के 100 कर्मचारियों को जीएडी बुधवार को कुल्लू से एयर लिफ्ट करेगा। जनजातीय जिला में लोकसभा चुनावों की प्रक्रिया को सफलता पूर्वक अंजाम देने के लिए चुनाव आयोग के आदेशों पर जीएडी ने यह निर्णय लिया है। लाहुल-स्पीति के 92 मतदान केंद्रों में प्रशासन ने 376 कर्मचारियों को इलेक्शन ड्यूटी पर तैनात किया है, लेकिन इनमें करीब 100 कर्मचारी जिला से भार लंबे समय से फंसे हुए हैं। भारी बर्फबारी के कारण लाहुल-स्पीति जहां शेष विश्व से कटा हुआ है, वहीं घाटी में पहुंचने के लिए हेलिकाप्टर ही एक मात्र साधन है। ऐसे में लाहुल-स्पीति के इन सरकारी कर्मचारियों को जहां हेलिकाप्टर की उड़ान में अपनी बारी का इंतजार है, वहीं लाहुल-स्पीति प्रशासन ने कर्मचारियों के जिला से बाहर फंस जाने के सूचना जैसे ही चुनाव आयोग को दी और चुनावी प्रक्रिया को अंजाम देने के लिए इन कर्मचारियों की अहम भूमिका बताई,तो चुनाव आयोग ने कुल्लू में फंसे इलेक्शन ड्यूटी के करबी 100 कर्मचारियों को एयर लिफ्ट करवाने के फरमान जारी किए। ऐसे में जीएडी बुधवार को भुंतर हवाई अड्डे से इलेक्शन ड्यूटी पर तैनात किए गए लाहुल-स्पीति के कर्मचारियों को लाहुल पहुंचाने जा रहा है। उड़ान समिति के प्रभारी अशोक कुमार का कहना है कि जीएडी बुधवार को करीब तीन उड़ानें करवाने जा रहा है। यह  उड़ाने विशेष तौर पर इलेक्शन ड्यूटी पर तैनात किए गए लाहुल के सरकारी कर्मचारियों के लिए होगी। लाहुल-स्पीति प्रदेश का एक लौता ऐसा जिला है,जहां पर अभी तक राजनीतिक दल न तो अपना प्रचार कर पाए हैं और न ही लोगों से संपर्क साध पाए हैं। घाटी में दूरसंचार व्यवस्था भी ठप होने से राजनीतिक संगठनों के लिए लोक सभा चुनावों में चुनाव प्रचार को लेकर यहां मैदान में उतरना खासा मुश्किल हो गया है। लोक सभा चुनावों की घोषणा के बाद लाहुल-सपीति प्रशासन ने चुनाव आयोग के आदेशों पर चुनाव की तैयारियां तो शुरू कर दी हैं, लेकिन जिला से बाहर फंसे इलेक्शन  ड्यूटी के कर्मचारियों ने प्रशासन की दिक्कतें बढ़ा डाली हैं। उपायुक्त लाहुल-स्पीति अश्वनी कुमार चौधरी ने बताया कि बुधवार को जिला से बाहर फंसे कर्मचारियों को लाहुल पहुंचा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 11 से 15 अप्रैल तक लाहुल में कर्मचारियों की रिहर्सल करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि सभी मतादान केंद्रों तक पहुंचने वाली सड़कों के बाहली का कार्य युद्ध स्तर पर चलाया गया है। बहरहाल लाहुल-स्पीति के इलेक्शन ड्यूटी पर तैनात किए गए कर्मचायिरों को आज भुंतर से एयल लिफ्ट किया जाएगा।