Thursday, August 06, 2020 06:52 PM

छत्तीसगढ़ में जवान ने साथियों पर दागी गोलियां, हिमाचली सहित छह की मौत

नारायणपुर में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के कैंप में दिल दहला देने वाली वारदात

 नारायणपुर -छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के कैंप में हुई एक सनसनीखेज वारदात में एक कांस्टेबल ने अपने पांच साथियों को गोली मार दी और बाद में हमलावर जवान की भी मौत हो गई। इस वारदात में एक हिमाचली जवान भी शहीद हुआ है। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि हमलावर जवान ने आत्महत्या की या जवाबी कार्रवाई में उसकी मौत हुई। अचानक घटी वारदात में दो लोग घायल भी हो गए हैं। सूत्रों की मानें तो छुट्टियों को लेकर विवाद के बाद यह होश उड़ा देने वाली घटना घटी। बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि नारायणपुर जिला के कडेनार गांव में स्थित आइटीबीपी के 45वीं बटालियन के शिविर में जवानों के बीच गोलीबारी हुई। जवानों के शव और घायल जवानों को अस्पताल भेजा गया है। कडेनार स्थित आईटीबीपी का यह कैंप नारायणपुर से करीब 350 किलोमीटर दूर है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, आईटीबीपी जवान मसुदुल रहमान ने सर्विस रिवॉल्वर से अचानक साथी जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। अचानक हुई इस गोलीबारी में जवानों को संभलने का मौका भी नहीं मिला। इस घटना ने हर किसी को सन्न कर दिया। सुंदरराज ने बताया कि इस घटना में रहमान की भी मौत हो गई। मृतकों में हिमाचल प्रदेश के प्रधान आरक्षक महेंद्र सिंह, पंजाब के प्रधान आरक्षक दलजीत सिंह, पश्चिम बंगाल के आरक्षक सुरजीत सरकार व आरक्षक बिश्वरूप महतो और केरल के आरक्षक बीजीश शामिल हैं। केरल निवासी एसबी उल्लास और राजस्थान निवासी सीताराम दून घायल हुए हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि रहमान ने खुद को गोली मारी या उसके साथियों ने जवाबी कार्रवाई में उसे मार गिराया। इस घटना में मारे गए जवानों की रायफल की जांच के बाद ही जानकारी मिल सकेगी कि जवानों ने रहमान पर गोली चलाई है या नहीं। सुंदरराज ने बताया कि घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलिकाप्टर से रायपुर भेजा गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रहमान खान ने पहले अपने पांच साथियों को गोली मारी। इसके बाद उसकी भी जान चली गई। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक छुट्टियों को लेकर विवाद हो गया था, जिसके बाद खान ने यह कदम उठाया। नारायणपुर के सुपरिंटेंडेंट ऑफ  पुलिस मोहित गर्ग भी घटनास्थल पर पहुंचे और इस मामले की जांच की जा रही है।

घाटी में हिमस्खलन से चार जवान शहीद

श्रीनगर। उत्तरी कश्मीर के कई इलाकों में हुए हिमस्खलन के चलते चार जवान शहीद हो गए हैं। मंगलवार को कुपवाड़ा जिला के तंगधार सेक्टर में एक सैन्य कैंप हिमस्खलन की चपेट में आ गया था, जिसके बाद कई जवान लापता बताए जा रहे थे। सेना के सूत्रों का कहना है कि इस घटना में भारतीय सेना के तीन जवानों की मौत हो गई। वहीं बांदीपोरा के गुरेज सेक्टर में आर्मी के गश्ती दल के बर्फीले तूफान की चपेट में आने से एक जवान शहीद हो गया।