Monday, September 23, 2019 02:46 AM

छत टूटी, हाई वोल्टेज की नंगी तारों से हादसे का डर

बम्म - सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग की उठाऊ पेयजल योजना मैहरी काथला की हालत खस्ता हो चुकी है, लेकिन विभाग इसकी तरफ  कोई ध्यान नहीं दे रहा है। इस स्कीम का पुराना कुंआ जर्जर हालत में है। इसकी छत भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुकी है। कूड़ा-कर्कट और गंदगी सीधे तौर पर इस स्कीम के अंदर घुस जाने से से पानी भी दूषित हो रहा है।  इसके अलावा स्कीम के अंदर पुरानी मशीनरी के साथ बिजली की केवल हाई वोल्टेज फ्यूज व तारें नंगी अवस्था में जली हुई लटकी हुई है, जो किसी बड़े हादसे को न्योता दे रही है। स्थानीय निवासी नेकराम, लेखराम, रघुराम, रवि कुमार, राजेंद्र कुमार, दीप कुमार, अमर सिंह, रतन लाल, जोगिंद्र कुमार, किशोरी, अमीं चंद, कर्म चंद, ज्ञान चंद, रविंद्र शर्मा, धर्म चंद, रमेश कुमार, सरेंद्रा, मनोज कुमार, कमल शर्मा व जगदीश शर्मा आदि ने बताया कि अगर कहीं बजरवाली खड्ड में बाढ़ का पानी ज्यादा आ जाए तो चारों ओर करंट फैलने का खतरा बना हुआ है, जिससे यहां पर कार्यरत कर्मचारियों को किसी बड़ी दुर्घटना का शिकार होकर अपनी जान से हाथ धोना पड़ सकता है। दूसरी ओर यहां बनाया गया वाटर सप्लाई स्टोरेज पंप लिफ्ट टैंक भी फट गया है और काथला में बने ओवर हैड टैंक को आने वाली मेन पाइपलाइन जगह-जगह से फटी हुई है, जिससे काफी पानी रास्ते में ही व्यर्थ बह रहा है। इस बारे में विभाग को कई बार अवगत करवा चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। उन्होंने विभाग से मांग की है कि शीघ्र ही इस स्कीम की मरम्मत की जाए।