Tuesday, November 19, 2019 04:36 AM

छह महीने बाद लेंगे हिसाब

पीसीसी महासचिव बोले, इन्वेस्टर मीट में सरकारी मशीनरी का हुआ दुरुपयोग, सरकार की नीतियों के खिलाफ 12 को हमीरपुर में होगा प्रदर्शन

हमीरपुर-मीरपुर धर्मशाला में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के क्या परिणाम निकलते हैं इसका हिसाब कांग्रेस छह माह बाद प्रदेश की जयराम सरकार से लेगी। यदि वाकई में ये इन्वेस्टर मीट प्रदेश हित में है और युवाओं को रोजगार दिलाती है तो हम इसका स्वागत करते हैं। यह कहना है प्रदेश कांग्रेस महासचिव एवं हमीरपुर के प्रभारी केवल सिंह  सिंह पठानिया का। शुक्रवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में पठानिया ने कहा कि धर्मशाला में आयोजित इन्वेस्टर मीट में निवेशकों को परेशानी उठानी पड़ी और भाजपा कार्यकर्ता सरकारी खर्चे पर मौज करते नजर आए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस छह माह बाद भाजपा सरकार से पूछेगी कि कितना खर्च हुआ और कितना इन्वेस्ट हुआ। उन्होंने कहा कि कांग्रेस छह से 15 नवंबर तक जिला मुख्यालयों में प्रदेश व केंद्र सरकार की विफलताओं को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रही है। इसमें बढ़ती बेरोजगारी, महंगाई अबकी बार प्याज 100 पार, महिलाओं की सुरक्षा, कानून व्यवस्था तथा प्रदेश के हितों को बेचने के खिलाफ  कांग्रेस आवाज उठाएगी। उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में कांग्रेस हमीरपुर जिला मुख्यालय स्थित भोटा चौक से गांधी चौक तक 12 नवंबर को प्रदर्शन करेगी। इस मौके पर पीसीसी सचिव पठानिया, बलविंद्र बबलू, प्रदेश महिला सेवादल की अध्यक्ष ज्योती खन्ना, पीसीसी प्रवक्ता प्रेम कौशल, दीपक शर्मा, सहित अन्य कांगे्रस नेता मौजूद रहे। नादौन ब्लॉक के अध्यक्ष बैठक में शामिल नहीं थे।