Tuesday, October 15, 2019 09:23 AM

छात्रों से धुलवाए जूठे बरतन

जिला के एक सरकारी स्कूल में सामने आया कारनामा, अभिभावकों में रोष

मंडी -जिला के एक सरकारी स्कूल में बच्चों से खाना बनाने के जूठे बरतन साफ करवाए गए हैं। जब अभिभावकों को पता लगा, तो उन्होंने स्कूल प्रबंधन समिति को भी अवगत करवाया और दोषी अध्यापकों पर कार्रवाई की मांग की है। ग्रामीण व  एसएमसी सदस्य का कहना है कि उक्त स्कूल में शुक्रवार को कोई कार्यक्रम था और चंद मेहमानों को खाना खिलाने के बाद स्टाफ ने जूठे बरतन ऐसे ही रात को रख दिए और सुबह जब बच्चे स्कूल आए तो बड़े-बड़े बरतन उनसे खुले में सरेआम साफ करवाए। लोगों ने बच्चों से करवाए जा रहे कार्य की फोटो खींच ली।  उनका कहना है कि अगर बच्चों को कोई एनएसएस कैंप या अन्य गतिविधि होती तो बच्चे स्वेच्छा से श्रमदान कर स्वयंसेवी भावना से ऐसा कार्य कर सकते हैं, लेकिन हैरानी इस बात की है कि कार्यक्रम किसी और का और बरतन बच्चांे से साफ करवाए गए।   उन्होंने पूरे मामले की जांच करने की मांग की है। इस बारे में एसएमसी प्रधान का कहना है कि कोई कार्यक्रम शुक्रवार को स्कूल में करवाया गया,  जिसमें वह उपस्थित नहीं थे। उन्हें शनिवार को कुछ अभिभावकों ने बताया कि स्कूल में बच्चों से बरतन साफ करवाए गए, जिसकी जांच करवाइए। लिहाजा बैठक में इस बारे में कारण पूछा जाएगा। उधर, इस बारे में स्कूल प्रधानाचार्य का कहना है कि कार्यक्रम एक दिन पूर्व था और बरतन नल के पास हल्के साफ कर अंदर उठाकर बच्चों द्वारा रखे गए। बच्चों ने ये काम खुद स्वेच्छा से किया है। बच्चों से जबरन कार्य नहीं करवाया गया है। कुछ सदस्य पुरानी बातों को लेकर बिना मतलब बखेड़ा खड़ा करने की कोशिश कर रहे हैं। स्कूल में इस कार्य को करने के लिए कोई नहीं होता लिहाजा स्वेच्छा से सब काम करते हैं। कई बार टिचिंग स्टाफ भी कर लेता है, जब स्कूल मंे कोई कार्यक्रम हो।