Tuesday, March 31, 2020 07:57 PM

छात्र ऐसे तैयार करें आम-लीची का बागीचा

नौणी यूनिवर्सिटी के छात्रों ने प्रशिक्षण केंद्र जाच्छ में सीखीं खेताबाड़ी की बारीकियां

नूरपुर - डा. वाईएस परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी के बीएससी हॉर्टिकल्चर अंतिम वर्ष के 24 छात्र-छात्राओं का एक दल ग्रामीण जागरूकता कार्य अनुभव कार्यक्रम के तहत क्षेत्रीय बागवानी अनुसंधान एंव प्रशिक्षण केंद्र जाच्छ में सात दिवसीय दौरे पर पहुंचा। इस दौरान उन्होंने नूरपुर ब्लॉक के गनोह क्षेत्र के प्रगतिशील बागबान अमित पठानिया के बागीचे का दौरा किया। अमित पठानिया ने छात्र-छात्राओं को अपने बागीचे में उगाए गए सभी फल-पौधों के बारे में जानकारी प्रदान की।  उनके साथ केंद्र के सहायक वैज्ञानिक विश्व गौरव सिंह चंदेल रहे, जिन्होंने छात्र-छात्राओं को आम, नींबू वर्गीय फलों, लीची, अमरूद के पौधों की खेती तथा उन पर लगने वाली बीमारियों व कीटों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की और उनकी रोकथाम के बारे में बताया। छात्र-छात्राओं ने गांव में अन्य किसानों से मिलकर उनको खेतीबाड़ी में आ रही विभिन्न   समस्याओं के बारे में जानकारी एकत्रित की।  केंद्र के सह निदेशक डा. अतुल गुप्ता ने बताया कि अपने सात दिवसीय प्रवास के  दौरान उक्त छात्र-छात्राएं किसानों की आर्थिकी, बागबानी विकास में आने वाली समस्याओं का अध्ययन, ग्रामीण परिवेश व अन्य गतिविधियों बारे जानेंगे तथा विद्यार्थियों में तकनीकी हस्तांतरण में जरूरी संचार कौशल को बढ़ाना तथा गांव में विभिन्न प्रकार की विकासनात्मक गतिविधियों बारे जानकारी लेंगे।