Saturday, April 20, 2019 02:30 PM

छोटी काशी की ठंडी फिजाओं में राजनीति की तपिश

मंडी-हर दिन नए रंग दिखा रही मंडी की राजनीति प्रदेश में चर्चा का विषय बन गई है। अनिल शर्मा के इस्तीफे ने मंडी में चल रही पंडित सुखराम व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की प्रतिष्ठा की जंग को अब और गरमा दिया है। मंत्री पद से बेटा अधिक प्यारा होने की बात कहने वाले मंडी सदर के विधायक अनिल शर्मा ने ऊर्जा मंत्री की कुर्सी को अलविदा कह कर अपने इरादे अब पूरी तरह से स्पष्ट कर दिए हैं। पिता और पुत्र के कांग्रेस में चले जाने के बाद धर्मसंकट में फंसे ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने आखिरकार मंत्री पद से इस्तीफा देकर अपना एक धर्मसंकट दूर कर लिया है। वहीं अब कांग्र्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा ने भाजपा को चुनौती दे दी है कि भाजपा को अगर कोई पीड़ा है, तो अनिल शर्मा को पार्टी से निकालकर दिखाए। वहीं दूसरी तरफ पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम शर्मा ने यहां तक कह दिया है कि जयराम ठाकुर आरएसएस के कारण प्रदेश के सीएम बने हैं। 

प्रो-कबड्डी में चमके बल्ह के महंेद्र सिंह ठाकुर

कबड्डी जगत और दोस्तों के बीच मंे माही के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह ठाकुर सीजन पांच और सीजन छह में भी बंगलुरू बुल्स के लिए डिफेंडर के रूप में शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं। सीजन छह मंे बंगलुरू बुल्स को चैंपियन बनाने में माही की अहम भूमिका रही है। वहीं प्रो-कबड्डी सीजन सात में मंडी जिला की बल्ह घाटी के स्टार कबड्डी प्लेयर महेंद्र सिंह ठाकुर को बंगलुरू बुल्स द्वारा अस्सी लाख रुपए में रिटेन किए जाने के बाद से समूची बल्ह घाटी के खिलाडि़यों और उनके प्रशंसकों में खुशी का माहौल है। माही ने सीजन छह में शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी टीम के लिए 63 अंक हासिल किए थे और पूरे सीजन में छह हाई फाइव लगाकर टीम को फाइनल तक पहुंचाने और चैंपियन बनाने मंे अपना अहम योगदान दिया था, जिसके चलते इस बार बंगलुरू बुल्स ने माही को डबल प्राइस मंे रिटेन किया है। 

मंडी शहर को अब 24 घंटे मिलेगा पानी

गत सप्ताह मंडी शहर की महत्त्वाकांक्षी ऊहल पेयजल योजना की 24 घंटे पानी सप्लाई का टेस्टिंग काम शुरू हो गया। ढांगसी धार में स्टोरेज टैंक की टेस्टिंग के बाद मंडी शहर को पानी सप्लाई की सफल टेस्टिंग की गई। इसमें पानी के फ्लो के साथ लीकेज चैक की गई। पूरे शहर को पानी सप्लाई करने के बाद जहां-जहां पुरानी पाइपों में लीकेज की समस्या पेश आई, वहां मरम्मत कार्य शुरू कर दिया गया।

स्कूटर पर सवार होकर पहुंचे सीएम

गत सप्ताह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का एक अलग ही अंदाज जनता को देखने को मिला। पैर में चोट लगे होने और पट्टी चढ़े होने के बाद भी दर्द की परवाह किए बगैर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मंडी सदर के साईगलू में अपनी पहली बड़ी जनसभा में पहुंच गए। इस दृश्य को देखकर पूरा पंडाल मुख्यमंत्री के नारों से गंूज उठा।

मंडी में हेल्पलाइन नंबर

 उपायुक्त कार्यालय के लिए संपर्क नंबर-01905222355     व्हाट्स ऐप नंबर-7650025201   गुमशुदगी की शिकायत-9459100100 0 चाइल्ड हेल्पलाइन- 1098   गुडि़या हेल्पलाइन-1515   होशियार हेल्पलाइन-1090

जोनल अस्पताल में खल रही डाक्टरों की कमी

जोनल अस्पताल मंडी एक जिला स्तरीय अस्पताल है, लेकिन इसकी हालत दुर्गम क्षेत्रों में स्थित सीएचसी-पीएचसी जैसी है। इन दिनों अधिकतर वार्ड में बैड खाली ही रहते हैं, क्योंकि यहां गिने-चुने विशेषज्ञ डाक्टर ही तैनात हैं। अधिकतर विभाग की ओपीडी या तो बंद है या वह मात्र एक विशेषज्ञ डाक्टर के सहारे चल रहे हैं। ऐसे में मरीजों को तो असुविधाओं का सामना करना पड़ ही रहा है, वहीं दूसरी तरफ पड्डल मैदान की दशा को लेकर खिलाड़ी परेशान हैं। करोड़ों खर्च करने के बाद वर्तमान में पड्डल मैदान बदहाली के आंसू बहा रहा है।

इस बार मटर ने रुलाए गोहर के किसान

गोहर क्षेत्र के किसानों को इस बार मटर की फसल ने रुला दिया है। हर वर्ष तीन करोड़ से अधिक के मटर का व्यापार करने की क्षमता रखने वाला गोहर क्षेत्र इस बार एक करोड़ का आंकड़ा पार करने को भी तरस रहा है। गत वर्षों की तुलना में मटर के व्यापार में इस बार आई भारी गिरावट का मुख्य कारण अधिक बारिश होना है।

निजी स्कूलों में की छापामारी

गत सप्ताह शिक्षा विभाग ने निजी स्कूलों में फीस स्ट्रक्चर को लेकर छापामारी शुरू कर दी। विभाग की इंस्पेक्शन कैडर टीम ने करीब 20 निजी स्कूलों में औचक निरीक्षण किया। इस दौरान टीम ने पाया कि निजी स्कूलों द्वारा फीस वसूली, बच्चों की ड्रेस, किताबों को लेकर मनमानी जारी है। निजी स्कूल प्रबंधन ने  मनमर्जी से  फीस स्ट्रक्चर को बढ़ाकर विभाग के नियमों की अवहेलना कर रहे हैं। टीम ने समस्त मामलों की रिपोर्ट शिक्षा निदेशालय को भेज दी है। 

बैल के लिए बनाया शैड, तलेली को मिला डाक्टर

क्षेत्र की ग्रयोह पंचायत  के ग्रयोह  में गत बुधवार रात से खेत में गिरे हुए बैल को सुरक्षा प्रदान करने के लिए स्थानीय पंचायत ने खेत में शैड तैयार कर दिया है।  बता दें कि इस समस्या को प्रदेश के अग्रणी समाचार पत्र ‘दिव्य हिमाचल’ ने गत सोमवार के अंक में आवारा पशुओं का हाल बेहाल शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था। खबर छपने के तुरंत बाद स्थानीय पंचायत हरकत में आई और पंचायत प्रधान ने पिछले चार दिन से खेत में तड़प रहे बैल को तिरपाल लगाकर स्थानीय लोगों की मदद से शैड की व्यवस्था कर दी है। इसके अलावा डैहर क्षेत्र के तलेली को डेढ़ वर्ष बाद चिकित्सक मिल गया है। उक्त समस्या को दिव्य हिमाचल ने प्रमुखता से उठाया था।