Monday, April 06, 2020 05:46 PM

जनगणना देश के विकास का आधार

सोलन में बोले उपायुक्त केसी चमन, जनगणना अधिकारियों एवं फील्ड प्रशिक्षकों के लिए सजी कार्यशाला

सोलन -वर्ष 2021 में होने वाले जनगणना कार्य के सुचारू कार्यान्वयन के दृष्टिगत मंगलवार को जनगणना निदेशालय द्वारा जनगणना अधिकारियों एवं फील्ड प्रशिक्षकों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला की अध्यक्षता उपायुक्त सोलन केसी चमन ने की। कार्यशाला में जिला के उपमंडलाधिकारियों, राजस्व अधिकारियों तथा शहरी निकायों के अधिकारियों ने भाग लिया। केसी चमन ने कहा कि जनगणना देश के विकास का आधार है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर कार्यान्वित किए जाने वाले सभी कार्यक्रमों एवं नीतियों की सफलता के लिए जनगणना के सही आंकड़ों का होना आवश्यक है। यह तभी संभव है जब जनगणना कार्य के लिए नियुक्त अधिकारी एवं कर्मचारी पूर्ण रूप से प्रशिक्षित हों और अपने कार्य को समर्पण एवं निष्ठा के साथ समय पर पूरा करें। उन्होंने कहा कि जनगणना कार्य की सफलता के लिए आमजन का सहयोग भी आवश्यक है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए आम लोगों को जनगणना के महत्त्व के विषय में जागरूक बनाया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि विभिन्न लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं तथा स्थानीय निर्वाचन में जनगणना के आंकड़े महत्त्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि जनगणना के आधार पर ही नीतियों व योजनाओं के निर्माण के लिए मूल्यवान सूचना प्राप्त होती है। संसदीय, विधानसभा, पंचायत व अन्य स्थानीय निकायों का परिसीमन एवं निर्वाचन कार्य में आरक्षण जनगणना के आंकड़ों के आधार पर ही किया जाता है। केसी चमन ने कार्यशाला में उपस्थित सभी अधिकारियों से आग्रह किया कि वे जनगणना कार्य से संबंधित समस्त पहलुओं को सूक्ष्मता से समझें, ताकि जनगणना के कार्य को त्रुटिरहित एवं समयबद्ध पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान अधिकारी एवं कर्मचारी प्रत्येक शंका का निवारण करें।  उन्होंने कहा कि अतिरिक्त उपायुक्त विवेक चंदेल को जनगणना कार्य के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जनगणना कार्य को समय पर एवं त्रुटिरहित पूरा करने के लिए संबंधित अधिकारी के साथ दो तकनीकी सहायक संबद्ध किए जाएंगे, जो कम्प्यूटर पर प्रतिदिन डाटा को अद्यतन करेंगे। केसी चमन ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आम लोगों को जनगणना कार्य के बारे में जागरूक करने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करें, ताकि लोग जनगणना कार्य में पूर्ण रूप से अपना सहयोग दें। उन्होंने निर्देश दिए कि जनगणना कार्य के संबंध में ग्रामीण स्तर पर नुक्कड़-नाटकों के माध्यम से जन-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। उपायुक्त ने कहा कि जनगणना 2021 के तहत आवासों को सूचीबद्ध करने का कार्य 16 मई से 30 जून 2020 तक किया जाएगा। जनसंख्या गणना का कार्य नौ फरवरी से 28 फरवरी 2021 तक आयोजित होगा। बर्फ से आच्छा दित क्षेत्रों में जनसंख्या गणना का कार्य 11 सितंबर से 30 सितंबर 2020 तक आयोजित किया जाएगा। अतिरिक्त जनगणना निदेशक प्रवीण कुमार ने जनगणना कार्य की विस्तृत जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर भारतीय प्रशासनिक सेवा की परीविक्षाधीन अधिकारी डा. निधि पटेल, अतिरिक्त उपायुक्त विवेक चंदेल, उपमंडलाधिकारी नालागढ़ प्रशांत देष्टा, उपमंडलाधिकारी सोलन रोहित राठौर, उपमंडलाधिकारी कंडाघाट डा. संजीव धीमान, सहायक आयुक्त भानु गुप्ता, विभिन्न उपमंडलों के राजस्व अधिकारी एवं शहरी निकायों के अधिकारी उपस्थित रहे।