Monday, April 06, 2020 06:33 PM

जनता कर्फ्यू…चंबा की सड़कें खाली

कोरोना के संक्रमण से लड़ने को पीएम की अपील पर घरों में बंद रहे लोग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ जारी जंग के तहत जनता कर्फ्यू के आह्वान का रविवार को चंबा जिला में खासा असर देखने को मिला। इसके चलते रविवार को चंबा जिला की तमाम सड़कों पर वीरानी छाई रही। कोरोना वायरस संक्रमण के गंभीर परिणामों को देखते हुए लोगों ने घरों से बाहर न निकलने में ही अपनी भलाई समझी। जनता कर्फ्यू की सफलता में कारोबारियों व ट्रांसपोटरों ने भी अहम रोल अदा किया। चंबा जिला के इतिहास में पहली बार जनता कर्फ्यू का इतना बड़ा असर देखने को मिला। चंबा के अलावा जिला के अन्य हिस्सों में भी जनता कर्फ्यू का व्यापक असर देखने को मिला। शाम पांच बजे चंबा जिला में लोगों ने प्रधानमंत्री के आह्वान पर घरों की छतों व बालकनी में थाली बजाकर व तालियां बजाकर कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने में जुटे रक्षकों का अभिवादन भी किया। रविवार सवेरे से ही चंबा जिला की तमाम मुख्य व संपर्क मार्गोंे पर वाहनों व लोगों की मौजूदगी न के बराबर देखने को मिली। रविवार को छुट्टी का दिन होने के चलते लोगों ने अपना दिन टीवी देखकर और धूप सेंककर व्यतीत किया। चंबा शहर समेत जिला के तमाम मुख्य स्टेशनों पर कारोबारियों ने अपनी दुकानें बंद कर जनता कर्फ्यू में आहूति डाली। रविवार को चंबा जिला में सरकारी व निजी बसों के अलावा टैक्सी वाहनों के पहिये भी थमे रहे। रविवार को केवल मुख्य मार्गों पर कुछ वाहन ही नजर आए, जोकि आपातकालीन स्थिति में आवश्यक कार्यों के लिए चल रहे थे। नए बस अड्डे को बेरिकेडस लगाकर बंद रखा गया और एक भी बस अड्डे में नहीं नजर आई। रविवार को जनता कर्फ्यू के चलते चंबा जिला के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भी रविवार को सूने रहे। पर्यटन नगरी डलहौजी सहित मिनी स्विजरलैंड के नाम से प्रसिद्ध खजियार व कालाटोप आदि क्षेत्रों में एक भी व्यक्ति नजर नहीं आया।