Monday, September 23, 2019 02:09 AM

जान हथेली पर

ब्यास नदी के बीच दो ट्रकों समेत फंसे चालक, बचाव दलों ने बचाए

पतलीकूहल - मनाली-चंडीगढ़ नेशनल हाई-वे के साथ पतलीकूहल के पास ब्यास नदी के बीचोंबीच दो ट्रकों के साथ-साथ दो व्यक्ति भी फंस गए। ऊझी घाटी में भारी बारिश से अचानक ब्यास नदी का जलस्तर बढ़ गया और ट्रक चालकों के लिए ट्रक निकालना मुश्किल हो गया। सूचना मिलते ही पुलिस, रेस्क्यू टीम, दमकल विभाग मौके के लिए मशीनरियां लेकर रवाना हो गए। उसके बाद कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीमों ने नदी के बीचोंबीच फंसे लोगों को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया। मनाली घाटी में लगातार हो रही बारिश से ब्यास नदी सहित सभी नदी नाले उफान पर हैं। जलस्तर बढ़ने से नदी किनारे रहने वाले लोग भी चिंतित हो उठे हैं। नेहरूकुंड, बाहंग, रांगड़ी, आलू ग्राउंड, क्लाथ, ब्राण, 15 मील, डोभी विहाल ओर रायसन के आसपास रह रहे लोग चिंतित हो उठे हैं। बाहंग में रह रहे नेपाली मूल के लोगों ने अपने खोखे खाली कर दिए हैं। अचानक नदी का जलस्तर बढ़ने से पतलीकूहल में दो लोग टिप्पर सहित ब्यास नदी में फंस गए। फंसे लोगों में नंद किशोर और रवि निवासी जिला सीकर राजस्थान निवासी शामिल थे। मनाली घाटी में अभी नुकसान की कोई सूचना नहीं है, लेकिन मौसम के मिजाज ऐसा ही रहा तो दिक्कत बढ़ सकती है। मनाली प्रशासन सतर्क है तथा हालात पर नजर रखे हुए है, लेकिन पानी बढ़ता देख लोग घबरा गए हैं। एसडीएम डा. अमित गुलेरिया ने बताया कि पतलीकूहल में नदी में फंसे दो लोगों को रेस्क्यू कर दिया गया है। लोगों से आग्रह है कि वे नदी-नालों से दूरी बनाए रखें।