Tuesday, November 12, 2019 09:52 AM

जिंदगी की जंग हारा फौजी…टांडा में मौत

रैत में पंजाब की गाड़ी की टक्कर से हुआ था जख्मी, तीन दिन तक लड़ी लड़ाई

शाहपुर, रैत -रैत में सड़क हादसे में घायल हुए लदवाड़ा के 25 वर्षीय सैनिक सिकंदर की देह पंचतत्व में विलीन हो गई। लदवाड़ा स्थित श्मशानघाट में हजारों लोगों की उपस्थिति में सिकंदर का अंतिम संस्कार किया गया। जीजा भूषण ने सिकंदर के शव को मुख्यग्नि दी। इस दौरान सेना के नायब सूबेदार संजय शर्मा ने 668 रेजिमेंट की तरफ  से सिकंदर की पार्थिव देह को पुष्पांजलि भेंट कर श्रद्धांजलि दी। पंजाब रेजिमेंट की तरफ  से सूबेदार हरनेक सिंह ने तथा एक्स सर्विस मैन की तरफ  से पूर्व सैनिक हवलदार रजिंद्र सिंह ने पुष्प चक्र भेंट कर श्रद्धांजलि दी।  यहां बता दे कि लदवाड़ा के सिकंदर भारतीय सेना के 668 रेजिमेंट में भठिंडा में तैनात थे तथा अपनी सगाई के लिए घर छुट्टी आए थे। शनिवार को रैत में जब वे मोटरसाइकिल पर जा रहे थे, तो उन्हें पंजाब की एक गाड़ी ने टक्कर मार दी थी, जिस कारण वे गंभीर रूप से घायल हो गए थे तथा उस समय से वे टांडा अस्पताल के आईसीयू में भर्ती थे, जिनकी मंगलवार सुबह चार बजे मौत हो गई। सिकंदर की देह को टांडा से जैसे ही उनके पैतृक घर लाया गया पूरा माहौल चींख पुकार से गूंज उठा।  सिंकदर अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था। उनकी बड़ी बहन की शादी हो चुकी है। सिकंदर के पिता हरबंस लाल खेतीबाड़ी करते है। कांग्रेस महासचिव केवल सिंह पठानिया ने भी सिकंदर की अंतिम यात्रा में भाग लेकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।