Tuesday, July 16, 2019 09:38 PM

जिला में भूकंप; 34 घायल, दो की ‘मौत’

नाहन—जिला सिरमौर मंे गुरुवार को आठ रिक्टर स्केल का भूकंप आया। जिसके चलते जिला के पांच स्थानों में भारी जानमाल का नुकसान हुआ। भूकंप का केंद्र मंडी के सुंदरनगर में था। इस दौान चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल बन गया। सूचना का सायरन बजते ही प्रशासन रेस्क्यू के लिए रवाना हो गया। एंबुलेंस के हूटर,जवानों की रेस्क्यू को लेकर बचाव यंत्रों के साथ भागदौड़ का सिलसिला इस दैरान शुरू हो गया। गुरुवार को साढ़े आठ बजे आए भूकंप ने जिला प्रशासन समेत आम लोगों को जिला मंे रेस्क्यू करने के लिए भागदौड़ की। वहीं पुलिस, होमगार्ड, लोक निर्माण विभाग, आईपीएच, परिवहन, विद्युत बोर्ड व सेना सहित जिला के उपायुक्त ने घटनास्थल का जायजा लिया तथा सभी संबंधित विभागों से इस आपदा से निपटने के लिए तुरंत प्रभाव से निर्देश दिए गए। वहीं स्वयं भी उपायुक्त ने स्टेज एरिया मंे मोर्चा संभाले रखा तथा सभी तरह की गतिविधियों का पल-पल की जानकारी हासिल की। जिला सिरमौर मंे आए आपदा के इस भूंकप ने पांच स्थानों मे 36 से अधिक कैजुअल्टी की धटनाएं धटित हुई, जिसमें दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान चारों तरफ  अफरा-तफरी का माहौल रहा। 36 मंे से 34 घायलों को नाहन मेडिकल कालेज लाया गया। यहां पर डाक्टरों की टीम ने घायलों का तंुरत इलाज किया। जबकि जिला मुख्यालय नाहन में दो स्थानों पर इस आपदा के दौरान आगजनी हो गई। जिसमंे फायर ब्रिग्रेड कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाकर घायलों को रेस्क्यू किया। जिला मुख्यालय नाहन के बस अड्डा, छोटा चौक, रेणुकाजी दोसड़का मार्ग,बीडीओ कार्यालय, कालाअंब के वनिषा कॉस्मेटिक में आपदा के दौरान व्यापक नुकसान का आंकलन हुआ। कालअंब के वनिषा कास्मेटिक में इस दौरान केमिकल फायर डिजास्टर हुआ। यहां पर अग्निशमन विभाग और जवानों ने रेस्क्यू आपरेशन चलाकर घायलों को निकाला। जबकि रेणुकाजी दोसड़का मार्ग पर भारी लेंड स्लाइड इस दौरान धटित हुआ। छोटा चौक और बस अड्डे के पास आगजनी की घटनाएं इस दौरान पेश आई। सभी पांच स्थानों पर दुर्घटनाओं में अलग अलग स्थानों पर 36 लोग घायल हुए, जिसमंे दो लोगों की मौत हो गई। चुतुर्थ वाहिनी बटालियन प्रशासन के अधिकारी गुमान सिह चौहान ने बताया कि आपदा के लिए जिला प्रशासन द्वारा दोपहर बाद राज्य आपदा प्रबंधन के साथ वीडियो कान्फेंसिग कर जिला मे आए आठ रिक्टर स्केल के भूकंप और आगजनी इत्यादि की फीडबैक अधिकारियों को दी गई है। वहीं आपदा के दौरान अपने को दूसरे की किस प्रकार से मदद की जाए के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध करवाई गई। गुरुवार को मेगा मॉकड्रिल के दौरान यह नजारा ऐतिहासिक चौगान मैदान मंे देखने को मिला। आपदा पर जिला सिरमौर मंे प्रदश के अन्य जिलों की तर्ज पर व्यापक प्रर्दशन किया गया, जिसमंे उपायुक्त सिरमौर आरके पुरुथी समेत, एसपी सिरमौर अजय कृष्ण शर्मा, एएसीपी वीरेंद्र ठाकर,स्वास्थ्य विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी डाक्टर विनोद सांगल, लोक निर्माण विभाग,आईपीएच आरएम नाहन रशीद महोम्मद शेख, विद्युत बोर्ड के अधिकारी समेत फायर और सेना के जवान इस दौरान मौजूद रहे। इस दौरान अधिकारियों ने आपदा के दोरान कैसें राहत ओर बचाव किए जांए ताकि स्वयं और दूसरे का जीवन बचाया जा सके पर व्यापक मॉकड्रिल व जानकारी के साथ प्रदर्शन कर जानकारी दी।