Thursday, August 22, 2019 05:39 PM

जेआरएफ परीक्षा में छाए कार्तिक

पांवटा साहिब के नौजवान ने देश भर में पाया 34वां रैंक

 पांवटा साहिब —पांवटा साहिब के कोलर क्षेत्र के दुर्गम गांव जंगलोट के युवा कार्तिक चौधरी ने जेआरएफ की परीक्षा में पूरे देश भर में 34वां रैंक हासिल कर मां-बाप और जिला सहित प्रदेश का नाम रोशन किया है। अब कार्तिक चौधरी ने न्यूट्रीशियन साइंस में पीजी के लिए क्वालिफाई किया है। इसके बाद उनका सपना पीएचडी करने का है। जानकारी के मुताबिक पांवटा साहिब के दून वैली स्कूल से अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने वाले कार्तिक चौधरी को बचपन से ही बेजुबान जानवरों से लगाव था। उन्होंने दुर्गम क्षेत्र में सुविधाओं के अभाव में पशुओं को इलाज के अभाव में मरते देखा तो मन में सपना पाल लिया कि वह उनके लिए कुछ करेगा। इसी सपने को संजोए कार्तिक ने जमा दो पास करने के बाद कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर में दाखिला लिया। यहां से कार्तिक ने बीवीएससी की परीक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की और अब देश की प्रतिष्ठित जेआरएफ की परीक्षा में देश भर में 34वां रैंक हासिल कर पीजी के लिए क्वालिफाई किया है। कार्तिक चौधरी की बहन नम्रता चौधरी शिलाई अस्पताल में बतौर चिकित्सक सेवाएं दे रही हैं। कार्तिक के पिता डा. नरेश चौधरी राजपूत सभा पांवटा के अध्यक्ष सहित कोलर में अपना निजी क्लीनिक चलाते हैं और माता संगीता ठाकुर हिंदी की प्रवक्ता हैं। व्यापार मंडल पांवटा के प्रधान अनिंद्र सिंह नौटी ने भी कार्तिक को बधाई दी है।