Friday, December 06, 2019 09:41 PM

टपरे में पत्थर बन गया सरकारी सीमेंट

गुप्त सूचना पर बीडीओ ने मौके पर जाकर की छापामारी, प्रधान पहले ही हो चुकी है सस्पेंड

हमीरपुर -महिला मंडल भवन में सीमेंट अनदेखी के कारण पत्थर बन गया। यह आलम ग्राम पंचायत टपरे के गांव के महिला मंडल का है। महिला मंडल भवन में कई माह  से 25 बैग सरकारी सीमेंट के रखे गए थे।  बीडीओ के निरीक्षण में पाया गया कि सारा सीमेंट पत्थर बन चुका है। इससे हजारों रुपए की हानि हुई है। बीडीओ ने मौके पर छापा मारकर सीमेंट को खराब करने की जांच शुरू हो गई है। गौरतलब है कि टपरे पंचायत की प्रधान की वित्तिय  अनियमितताओं के चलते कुछ दिन पहले ही सस्पेंड किया गया है, लेकिन पंचायत के कार्यों में बरती गई कोताही की पोल अभी भी खुल रही है।  बीते गुरुवार की शाम को खंड विकास अधिकारी को किसी ग्रामीण ने गुप्त सूचना दी कि टपरे गांव में रखा गया सरकारी सीमेंट पत्थर बन गया है, इसे विकास कार्यों में प्रयोग में नहीं लाया गया, जिससे विकास कार्य भी प्रभावित हुए है। खंड विकास अधिकारी रमेश चंद तुरंत कारवाई करते हुए गुरुवार शाम को ही मौके पर गए तथा महिला मंडल में जाकर छापामारी की।  इस दौरान निचली मंजिल में आंगनबाड़ी केंद्र के साथ बने एक छोटे से कमरे में 25 बैग सरकारी सीमेंट के बरामद हुए है तथा यह पत्थर बन चुका था। कमरे में इतना अंधेरा था कि इन्हें गिन पाना भी मुश्किल था। खंड विकास अधिकारी रमेश चंद ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि इसकी सूचना किसी ने ग्रामीण ने उन्हें दी थी तथा मौके पर जाकर 25 बैग सीमेंट के बरामद किए है। इसकी जांच के आदेश दिए गए है। इसमें यह भी पता लगाया जा रहा है कि यह सीमेंट किस कार्य के लिए आया था।  जांच के बाद जिसकी गलती सामने आएगी, उससे रिकवरी की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोताही किसी भी स्तर पर बर्दास्त नहीं की जाएगी। मामले की जांच की जा रही है।