Tuesday, February 18, 2020 06:51 PM

टैब दिए… न सिम…न ही इंटरनेट

प्रदेश पशुपालन विभाग कर्मचारी संघ ने बैठक के दौरान उठाए सवाल, 90 फीसदी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस खराब

जवाली -हिमाचल प्रदेश पशुपालन विभाग कर्मचारी संघ वेटरिनरी  फार्मासिस्ट जिला कांगड़ा की कार्यकारिणी की बैठक सतपाल सिंह जिलाध्यक्ष की अध्यक्षता में हुई। इसमें जिला के समस्त उपमंडलों के पदाधिकारियों ने भाग लिया। बैठक में वैटरिनरी फार्मासिस्टों की समस्याओं व मांगों पर चर्चा की गई । इसमें मुख्यतः पशुपालन विभाग द्वारा हाल ही में चलाए जा रहे ईनाफ  कार्यक्रम पर चर्चा की गई। यह एक राष्ट्रीय कार्यक्रम है, जिसे सफल बनाना हमारा कर्त्तव्य है, लेकिन विभाग आज तक इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं करवा पाया, जिससे कर्मचारियो में काफी रोष है। इस कार्यक्रम में दुधारू गाय व भैंस में टैग लगाने का काम है और उन पशुओ का सारा रिकार्ड कृत्रिम गर्भाधान गर्भ परीक्षण और बच्चे की उत्पति तक का रिकार्ड रखा जाएगा और पशुपालक का पूरा पता मोबाइल नंबर, आधार नंबर, जमीन का ब्यौरा, जाति का ब्यौरा इत्यादि का रिकार्ड भी दर्ज होगा। इन सभी कार्यों को ऑनलाइन दर्ज किया जाएगा, लेकिन विभाग ने जो टैब खरीदकर कर्मचारियों को दिए हैं वे 90 फीसदी खराब हो गए हैं। इसके अलावा नेट की सुविधा नहीं दी है और न ही इन टैब में सिम का प्रावधान किया है। टैग लगाने के लिए फील्ड में जाने पर सहायक का प्रावधान किया है। जिलाध्यक्ष सतपाल सिंह ने कहा कि इस समय जिला कांगड़ा में 200 पद चुर्तथ श्रेणी कर्मचारियों के रिक्त चल रहे हैं। कर्मचारियों ने शंका जताई है कि टैब खरीद में कुछ गोलमाल है इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त वेटरिनरी फार्मासिसस्टो का पदनाम बदलकर वेटरिनरी इंस्पेक्टर करना, चीफ  वैटरिनरी फार्मासिस्टों को पदोन्नति पर वितीय लाभ देनाए  वैटरिनरी फार्मासिस्ट को पशुपालकों के घर-द्वार पर पशु चिकित्सा उपलब्ध करवाने पर पशु चिकित्सा अधिकारियों की तर्ज पर सर्विस भता प्रदान करना भी शामिल रही। इस बैठक में आमित मनकोटिया महासचिव,  सुमन धीमान वरिष्ठ उपप्रधान, राहुल देव, जगजीत सिंह, विजय कुमार, दिनेश कुमार, प्रकाश डढवाल, सुधीर कुमार, विनय कुमार, अजय कुमार, शैलंदु, जगरूप सिंह, मस्तान सिंह, चमन लाल, कमल कुमारए सुखविंद्र सिंह, वीरेंद्र कुमार, दविंद्र पठानिया, दीवान चंद, देव राज, सपना, कमलेश कुमारी, रणजीत सिंह, रविंद्र कुमार, अनूप कुमार, अजीत कुमार, राजेश कुमारी, भारत भूषण, राकेश कुमार, दिलदार सिंह, अनुज कुमार व ईश्वर दास इत्यादि मौजूद रहे।